• केरल में कोरोना के कारण बकरीद की चमक फीकी, राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं

राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा कि केरल के निवासियों और दुनियाभर में रहने वाले केरल के लोगों को ईद पर मेरी शुभकामनाएं।

कोझिकोड। केरल में इस महीने संक्रमण के मामलों में कमी के बाद कोविड-19 के मामलों में वृद्धि की आशंका को देखते हुए सरकार को कड़े कदम उठाने पर मजबूर होना पड़ा है जिससे बुधवार को राज्य में बकरीद का त्यौहार प्रभावित हो सकता है। केरल में मुस्लिमों के एक बड़े वर्ग के धार्मिक नेता पनक्कड सईद मुनव्वर अली शिहाब थांगल ने पीटीआई-से कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण लोगों के मन में खालीपन का भाव है।” उन्होंने कहा कि संक्रमण न फैले इसलिए त्यौहार घर पर ही मनाया जाएगा और सोशल मीडिया के माध्यम से अपनों के साथ ईद की खुशी साझा की जाएगी। पुथियांगडी-चलिल में सुन्नी मस्जिद के कतीब रफीक रहमानी ने कहा, “ईद उल अजहा पर भी लोग एक दिन पहले उपवास रखते हैं।” 

इसे भी पढ़ें: बकरीद में छूट पर केरल सरकार को SC की फटकार, कहा- संक्रमण का प्रसार हुआ तो होगी कार्रवाई 

उन्होंने कहा कि ईद उल अजहा से हज यात्रा की भी शुरुआत होती है। इस साल इस त्यौहार पर कोविड-19 के कारण कई पाबंदियां हैं। मस्जिदों में नमाज पढ़ने केवल 40 लोग ही जा सकते हैं। इस बीच केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और विभिन्न दलों के नेताओं ने मंगलवार को राज्य को लोगों को बकरीद की शुभकामनायें दी। राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा, “केरल के निवासियों और दुनियाभर में रहने वाले केरल के लोगों को ईद पर मेरी शुभकामनाएं। दुआ करता हूं कि कुर्बानी और अल्लाह में विश्वास का त्यौहार ईद हमें प्रेम, करुणा और एक दूसरे के लिए मदद करने की भावना से एक करे और हमें कोविड-19 से लड़ने की ताकत दे।” विजयन ने ट्वीट कर लोगों से जिम्मेदाराना तरीके से त्यौहार मनाने का आग्रह किया।