खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था: कुमारस्वामी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 15 2019 6:24PM
खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था: कुमारस्वामी
Image Source: Google

नवीनतम समयसीमा 23 मई तय की गयी है। लेकिन कुछ नहीं होगा। वास्तव में 23 मई के बाद मेरी सरकार और मजबूत होगी क्योंकि उसे मल्लिकार्जुन खड़गे और सिद्धरमैया जैसे कांग्रेस नेताओं का समर्थन हासिल है।’’

कलबुर्गी (कर्नाटक)। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम मल्लिकार्जुन खड़गे को बहुत पहले ही राज्य का शीर्ष पद दिया जाना चाहिए था और उनके साथ कथित तौर पर अन्याय हुआ है। खड़गे की उपस्थिति में एक जनसभा में उनका बयान ऐसे समय में आया है जब कांग्रेस के कुछ विधायक मांग कर रहे हैं कि सिद्धरमैया को फिर से मुख्यमंत्री बनाया जाए। इस मांग से कांग्रेस और जदएस के बीच तीखा वाकयुद्ध चल रहा है कुमारस्वामी राज्य में कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार की अगुवाई कर रहे हैं।

भाजपा को जिताए

 
कुमारस्वामी ने मंगलवार को चिंचोली में एक सभा में कहा, ‘‘मल्लिकार्जुन खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था.... मैं महसूस करता हूं कि उनके साथ अन्याय किया गया... मैं स्पष्ट तौर पर कहना चाहूंगा कि खड़गे ने जितना कुछ किया, उन्हें उसकी पहचान नहीं मिली।’’ सिद्धरमैया ने उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाने की पार्टी के अंदर उठ रही मांग को समर्थकों का ‘स्नेह’ बताया था और कहा था कि वह अगला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने के अपने बयान पर अब भी कायम हैं। चिंचोली विधानसभा क्षेत्र में 19 मई को उपचुनाव है।


कुमारस्वामी ने कहा कि उनकी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी क्योंकि उन्हें खड़गे और सिद्धरमैया का समर्थन प्राप्त है। उनकी सरकार के टिके रहने के संबंध में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी एस येद्दियुप्पा की टिप्पणी पर मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘भाजपा के नेतागण मेरी सरकार के गिरने के लिए एक के बाद एक समयसीमा तय कर रहे हैं। नवीनतम समयसीमा 23 मई तय की गयी है। लेकिन कुछ नहीं होगा। वास्तव में 23 मई के बाद मेरी सरकार और मजबूत होगी क्योंकि उसे मल्लिकार्जुन खड़गे और सिद्धरमैया जैसे कांग्रेस नेताओं का समर्थन हासिल है।’’
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप