जानिए, अमरोहा के सांसद दानिश अली के बारे में, विरासत में मिली राजनीति

MP Danish Ali
निधि अविनाश । Apr 10, 2022 5:22PM
कुंवर दानिश अली ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत जनता दल (सेक्युलर) से की और आगे चलकर पार्टी के महासचिव बने। वह 6 नवंबर 2019 - 13 जनवरी 2020 तक लोकसभा में बहुजन समाज पार्टी के नेता थे। वह नवंबर 2019 से गृह मंत्रालय की सलाहकार समिति के सदस्य हैं।

कुंवर दानिश अली एक भारतीय राजनेता और 2019 से अमरोहा के लिए लोकसभा के सदस्य हैं। अली जनता दल सेक्युलर छोड़ने के बाद मार्च 2019 में बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। अली का जन्म 10 अप्रैल 1975 को हापुड़ में कुंवर जफर अली और नफीस जफर के घर हुआ।उन्होंने नई दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की। 15 जनवरी 2005 को, अली ने ज़ुबिया दानिश से शादी की, जिनसे उनका एक बेटा और दो बेटियां हैं। अली ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत जनता दल (सेक्युलर) से की और आगे चलकर पार्टी के महासचिव बने। वह 6 नवंबर 2019 - 13 जनवरी 2020 तक लोकसभा में बहुजन समाज पार्टी के नेता थे। वह नवंबर 2019 से गृह मंत्रालय की सलाहकार समिति के सदस्य हैं। 

इसे भी पढ़ें: ठाकुर के नाम पर नड्डा की मुहर, बीजेपी चीफ ने किया साफ, किसके चेहरे पर हिमाचल का चुनाव लड़ेगी पार्टी

दादा भी रह चुके हैं सांसद

उत्‍तर प्रदेश के हापुड़ के रहने वाले  43 साल के दानिश अली को राजनीति विरासत में मिली है। बता दें कि, उनके दादा कुंवर महमूद अली 1957 में डासना विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने थे। साल 1917 में वह  हापुड़ लोकसभा सीट से सांसद चुने गए, उन्हें जनता दल से चुनाव लड़ने का मौका मिला था। पांच भाइयों में सबसे छोटे दानिश अली जामिया मिलिया इस्लामिया में छात्र राजनीति से जु़ड़ गए थे। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले दानिश बसपा में शामिल हो गए थे और उन्हें अमरोहा से चुनाव लड़ने का मौका मिला। उनके मुकाबले में भाजपा ने कंवर सिंह तंवर और कांग्रेस ने सचिन चौधरी का टिकट दिया था। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़