'खीर' बनाने वाले कुशवाहा क्या अब पका रहे हैं दिल्ली में कोई 'खिचड़ी'? नीतीश बोले- दो-तीन बार पार्टी छोड़कर गए फिर...

Kushwaha
@prKushwahaemranjanpatel
अभिनय आकाश । Jan 21, 2023 6:43PM
बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइटेड के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा रूटीन चेकअप के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। उनसे मिलने के लिए बीजेपी के 3 नेताओं के अस्पताल पहुंचने ने बिहार का सियासी पारा चढ़ा दिया है। सियासी गलियारों में चर्चा का दौर शुरू हो गया।

वैसे तो राजनीति में ये प्रमुख लाइन है कि दिल्ली का रास्ता यूपी-बिहार से होकर गुजरता है। लेकिन इन दिनों बिहार की सियासत में नए खेलकी वजह से दिल्ली सुर्खियों में है। कभी यदुवंशियों के दूध और कुशवंशियों के चावल से खीर बनाने की बात कहने वाले उपेंद्र कुशवाहा क्या कोई नई खिचड़ी पकाने में लगे हैं? जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस बाबत सवाल पूछा गया तो उन्होंने अपने ही अंदाज में कहा कि जब उपेंद्र कुशवाहा स्वस्थ्य होकर वापस आएंगे तो पूछेंगे कि क्या मामला है। उनसे कह दीजिए कि हमसे फोन पर बतिया लें। वैसे वो दो-तीन बार पार्टी छोड़कर गए फिर वापस आए। सबको अधिकार है क्या करना है। 

इसे भी पढ़ें: Caste Based Census पर SC ने सुनवाई से किया इनकार, नीतीश बोले- विकास के काम को बढ़ाने में सुविधा होगी

दरअसल, बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइटेड के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा रूटीन चेकअप के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। उनसे मिलने के लिए बीजेपी के 3 नेताओं के अस्पताल पहुंचने ने बिहार का सियासी पारा चढ़ा दिया है। सियासी गलियारों में चर्चा का दौर शुरू हो गया। उपेंद्र कुशवाहा के जेडीयू छोड़कर बीजेपी में जाने के कयास लगाए जाने लगे। बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा रूटीन चेकअप के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। इस दौरान उनसे मिलने के लिए पूर्व विधायक प्रेम रंजन पटेल, संजय सिंह टाइगर और योगेंद्र पासवान पहुंच गए। प्रेम रंजन पटेल ने तो कुशवाहा संग मुलाकात की तस्वीर भी सोशल मीडिया पर शेयर कर दी। जिसके बाद अटकलों का बाजार गर्म हो गया। 

इसे भी पढ़ें: न्यायालय ने बिहार में जाति आधारित गणना की याचिकाओं पर सुनवाई से किया इनकार

बिहार में जब भी कोई विवाद होता है तो पोस्टर वॉर एक्शन-रिएक्शन का सबसे अहम जरिया है। हर दल इसका उपयोग विरोधी दलों के नेताओं के साथ-साथ पार्टी के भीतर भी निशाना बनाने के लिए एक हथियार के रूप में करता है। हाल ही में  जब जदयू एमएलसी संजय सिंह ने शहर भर में पोस्टर लगाए, जिसमें पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा की तस्वीर नदारद दिखी। इन पोस्टरों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, जल संसाधन मंत्री संजय झा, मंत्री लेसी सिंह और सुमित सिंह और प्रदेश के लगभग सभी शीर्ष नेताओं की तस्वीरें हैं। सूत्रों ने बताया है कि राजद विधायक सुधाकर सिंह और शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर यादव की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर कुशवाहा ने कई बयान दिए हैं। साथ ही उनकी इच्छा बिहार के उपमुख्यमंत्री बनने की भी है। लेकिन उनकी इस मंशा पर नीतीश ने बिहार में कोई दूसरा डिप्टी सीएम नहीं होगा जैसी बात कहकर पानी फेर दिया। 

अन्य न्यूज़