• नीतीश कुमार का ट्रंप कार्ड, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में ललन सिंह को बनाया गया JDU का नया अध्यक्ष

राजीव रंजन उर्फ लल्लन सिंह को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बेहद करीबी बताया जाता है। लोकसभा चुनाव में मुंगेर से कांग्रेस प्रत्याशी नीलम देवी को डेढ़ लाख से अधिक वोटों से हराकर राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह सांसद बने थे।

पटना। जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया है। बता दें कि राजीव रंजन उर्फ लल्लन सिंह का नया अध्यक्ष बनाया गया है। पिछले साल दिसंबर महीने में आरसीपी सिंह को अध्यक्ष बनाया गया था लेकिन आरसीपी के मंत्री बनने के बाद नया अध्यक्ष बनाने को लेकर कयासों का दौर जारी था। जिसके बाद सियासी समीकरणों को साधते हुए ललन सिंह को यह पद दिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: जाति आधारित जनगणना को लेकर बिहार की राजनीति गर्म, सीएम नीतीश से मिले तेजस्वी यादव 

जदयू अध्यक्ष पद की रेस में ललन सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा था। उन्हें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बेहद करीबी बताया जाता है। लोकसभा चुनाव में मुंगेर से कांग्रेस प्रत्याशी नीलम देवी को डेढ़ लाख से अधिक वोटों से हराकर राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह सांसद बने थे। इतना ही नहीं ललन सिंह जदयू के संसदीय दल के नेता भी हैं। 

राजधानी दिल्ली में जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। जहां पर करीबी एक घंटे चली चर्चा के बाद ललन सिंह को अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया। इस बैठक में नीतीश कुमार समेत कई बड़े नेता शामिल हुए।  

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने फिर की जाति आधारित जनगणना की मांग, कहा- यह सब के हित में है 

ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर नीतीश कुमार ने समीकरण साधने का प्रयास किया है। आरसीपी सिंह और ललन सिंह एक ही जाति से आते हैं। ऐसे में उन्हें अध्यक्ष बनाकर यह दर्शाने का प्रयास किया गया है कि जदयू समाज के हर वर्ग का ख्याल रखती है। आपको बता दें कि ललन सिंह उन लोगों में शामिल हैं जिन्होंने नीतीश कुमार के साथ मिलकर पार्टी की नींव रखी थी।