प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र, बोलीं- कानून व्यवस्था करें ठीक, जनता परेशान है

Priyanka
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि गाजियाबाद के व्यवसायी विक्रम त्यागी लगभग एक महीने से गुमशुदा हैं। परिवार की आशंका है कि उनका अपहरण हो गया है। बार-बार आग्रह के बाद भी पुलिस-प्रशासन की तरफ से कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में अपराध की कुछ हालिया घटनाओं के मद्देनजर मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कहा कि वह कानून-व्यवस्था ठीक करें क्योंकि जनता परेशान है। प्रियंका ने प्रदेश में कानून-व्यस्था की स्थिति लगातार बिगड़ने का दावा करते हुए यह भी कहा कि आपराधिक घटनाओं में सख्ती से कार्रवाई सुनिश्चित करने की जरूरत है। पत्र में कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘कानपुर, गोंडा, गोरखपुर की घटनाएं आपके संज्ञान में होंगी। मैं गाजियाबाद के एक परिवार की पीड़ा की तरफ आपका ध्यान आकर्षित कराना चाहती हूँ। मेरी इस परिवार से बात हुई है।’’ 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका ने अनिल बलूनी से फोन पर बात की, नए घर में खुशियों की कामना की 

उन्होंने कहा, ‘‘गाजियाबाद के व्यवसायी विक्रम त्यागी लगभग एक महीने से गुमशुदा हैं। परिवार की आशंका है कि उनका अपहरण हो गया है। बार-बार आग्रह के बाद भी पुलिस-प्रशासन की तरफ से कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है। दो दिन पहले हमारी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल उनके परिजनों से भी मिला था। वे बहुत ही परेशान हैं।’’ कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने आग्रह किया कि इस परिवार की मदद की जाए और पुलिस अधिकारियों को सख़्ती से निर्देशित करें कि पूरी तरह से उनकी सहायता की जाए। उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में अपहरण की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। कानून-व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। इस समय इन मामलों के प्रति पुलिस और प्रशासन की जिम्मेदारी है कि पूरी मुस्तैदी और दक्षता से कार्यवाही करें।’’ प्रियंका ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया, ‘‘प्रदेश की कानून व्यवस्था ठीक करें। जनता परेशान है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़