राजस्थान में गर्मी से जनजीवन बेहाल, धौलपुर में पारा 48.5 डिग्री सेल्सियस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 15, 2022   08:31
राजस्थान में गर्मी से जनजीवन बेहाल, धौलपुर में पारा 48.5 डिग्री सेल्सियस
Google Creative Commons.

मौसम विभाग ने आज बांसवाड़ा, फतेहपुर, टोंक, चित्तौड़गढ़, बनस्थली के आंकड़े जारी नहीं किए, जहां पिछले कुछ दिनों में तापमान काफी अधिक दर्ज किया गया था। एक अधिकारी ने कहा कि विभाग के पास इन जगहों पर अपनी वेधशाला नहीं है इसलिए तापमान की पुष्टि नहीं की जा सकती है।

जयपुर| राजस्थान में भीषण गर्मी का दौर जारी है जहां 23 शहरों में शनिवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया। तेज गर्मी व लू चलने के कारण आम जनजीवन ठप सा हो गया है और लोग घरों से निकलने से बच रहे हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार को सबसे ज्यादा तापमान धौलपुर में रहा जहां पारा 48.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 23 शहरों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया।

राज्य के गंगानगर में अधिकतम तापमान 48.3 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 48.2 डिग्री, करौली में 47.9 डिग्री, संगरिया में 47.8 डिग्री, चुरू में 47.5 डिग्री, जैसलमेर और फलोदी में 47.4 डिग्री, अलवर और पिलानी में 47.3 डिग्री, नागौर में 47 डिग्री, सवाई माधोपुर में 46.9 डिग्री, अंता में 46.8 व बूंदी में 46.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी जयपुर में पारा 45.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग ने आज बांसवाड़ा, फतेहपुर, टोंक, चित्तौड़गढ़, बनस्थली के आंकड़े जारी नहीं किए, जहां पिछले कुछ दिनों में तापमान काफी अधिक दर्ज किया गया था। एक अधिकारी ने कहा कि विभाग के पास इन जगहों पर अपनी वेधशाला नहीं है इसलिए तापमान की पुष्टि नहीं की जा सकती है।

राज्य के प्रमुख शहरों में बीती रात तापमान 24 से 33 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया गया। विभाग ने रविवार को श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर और चूरू जिलों में अति उष्ण हवाएं चलने की चेतावनी (रेड अलर्ट) जारी की है। वहीं झुंझुनू, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली, सवाई माधोपुर, बूंदी, कोटा, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर और नागौर जिलों के लिए तेज लू चलने का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।