सुरक्षा और बचाव के नियमों का पालन नहीं करेंगे तो लॉकडाउन से नहीं बचा जा सकता: भूपेश बघेल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 30, 2020   20:13
सुरक्षा और बचाव के नियमों का पालन नहीं करेंगे तो लॉकडाउन से नहीं बचा जा सकता: भूपेश बघेल

लॉकडाउन के कारण कठिनाई का सामना करना पड़ता है, लेकिन अगर लोग सुरक्षा और बचाव के लिये नियमों का पालन नहीं करेंगे तो लॉकडाउन की स्थिति से बचा नहीं जा सकता। यह समय मेरे लिये, आपके लिये चिंतित होने, बीमारी से बचाव के लिए सावधान रहने और सुरक्षा उपायों को गंभीरता से लेने क है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बृहस्पतिवार को कहा कि अगर लोग सुरक्षा और बचाव के नियमों का पालन नहीं करेंगे तब लॉकडाउन की स्थिति से नहीं बचा जा सकता है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने लोगों से लॉकडाउन को गंभीरता से लेने की अपील करते हुए कहा ‘‘लॉकडाउन के कारण कठिनाई का सामना करना पड़ता है, लेकिन अगर लोग सुरक्षा और बचाव के लिये नियमों का पालन नहीं करेंगे तो लॉकडाउन की स्थिति से बचा नहीं जा सकता। यह समय मेरे लिये, आपके लिये चिंतित होने, बीमारी से बचाव के लिए सावधान रहने और सुरक्षा उपायों को गंभीरता से लेने क है।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण अन्य राज्यों के मुकाबले नियंत्रण में जरूर है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़ रही है और यह सब अनलॉक के दौरान सावधानी और बचाव के उपाय नहीं अपनाने के कारण हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना पीड़ितों के स्वस्थ होने की दर बेहतर है और मृत्यु दर काफी कम है। बघेल ने कहा कि फिलहाल राज्य में रोजाना पांच हजार से अधिक नमूनों की जांच हो रही है। जल्द ही इसे बढ़ाकर दस हजार तक करने का लक्ष्य है। 

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी सदन में मास्क पहनना हुआ अनिवार्य, मास्क ना पहनने पर चैंबर से सदस्यों को किया जाएगा निष्कासित

बघेल ने कहा ‘‘राज्य के आठ क्षेत्रीय और 22 जिला स्तरीय अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के इलाज की व्यवस्था की गई है। सभी कोविड अस्पतालों में मास्क, पीपीई किट, ट्रिपल लेयर मास्क, वीटीएम और जरूरी दवाईयों के पर्याप्त संख्या में इंतजाम सुनिश्चित किए गए हैं।’’ छत्तीसगढ़ में बुधवार तक 8,600 मरीजों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि की गई है। वहीं 5636 मरीजों को स्वस्थ्य होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। राज्य में 2914 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमित 50 लोगों की मृत्यु हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...