मध्यप्रदेश : जंगल से बाहर निकलकर जंगली हाथियों ने तीन लोगों को कुचला, सभी की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2021   15:51
  • Like
मध्यप्रदेश : जंगल से बाहर निकलकर जंगली हाथियों ने तीन लोगों को कुचला, सभी की मौत

मध्यप्रदेश में सीधी जिला मुख्यालय से लगभग 85 किलोमीटर दूर संजय टाइगर रिजर्व (एसटीआर)के एक गांव में हाथियों ने सोमवार रात को तीन लोगों को कुचल कर मौत के घाट उतार दिया।

सीधी (मप्र)। मध्यप्रदेश में सीधी जिला मुख्यालय से लगभग 85 किलोमीटर दूर संजय टाइगर रिजर्व (एसटीआर)के एक गांव में हाथियों ने सोमवार रात को तीन लोगों को कुचल कर मौत के घाट उतार दिया। एसटीआर की उपमंडल अधिकारी जया त्रिपाठी ने मंगलवार को बताया कि एसटीआर के कुसमी जनपद अन्तर्गत ग्राम पंचायत खैरी के ग्राम हैकी में हाथियों के झुंड ने सोमवार रात को तीन लोगों पर हमला कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

इसे भी पढ़ें: सऊदी के तेल मंत्री अहमद जकी यामनी का 90 वर्ष की आयु में निधन

उन्होंने बताया कि हाथियों के आने की आहट सुनकर गोरे लाल यादव अपने दो पोतों राम कृपाल यादव (12) और रामप्रसाद यादव (13) को लेकर घर से भागने का प्रयास कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के खिलाफ में जंग में शहीद हुए वॉरियर्स को 50 लाख की अनुग्रह राशि देने का प्रावधान

उन्होंने बताया कि तीनों घर से बाहर निकले तो हाथियों का झुंड बाहर ही खड़ा मिला, इसके बाद हाथियों ने तीनों को जमीन पर पटक कर मौत के घाट उतार दिया। त्रिपाठी ने कहा कि घटना स्थल पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ की सीमा से लगा हुआ है। घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने तिलवारी जनकपुर मार्ग के कोटा छांदा में चक्काजाम कर दिया। उन्होंने बताया कि वन विभाग मामले की जांच कर रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


वाईएसआर कांग्रेस के 6 उम्मीदवार विधान परिषद के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:45
  • Like
वाईएसआर कांग्रेस के 6 उम्मीदवार विधान परिषद के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए

शेख मोहम्मद इकबाल दूसरे कार्यकाल के लिये निर्वाचित हुए हैं जबकि वरिष्ठ नेता सी रामचंद्रैया चार साल के अंतराल के बाद विधान परिषद में आए हैं। द्विवार्षिक चुनाव में अन्य निर्वाचित उम्मीदवारों में तिरुपति के दिवंगत सांसद दुर्गा प्रसाद राव के पुत्र बी कल्याण चक्रवर्ती, विजयवाड़ा से मोहम्मद करीमुन्नीसा और श्रीकाकुलम से डी श्रीनिवास निर्वाचित हुए है।

अमरावती। आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस के छह उम्मीदवार सोमवार को विधान परिषद के लिए निर्विरोध निर्वाचित हो गये। विधान परिषद उप सचिव एवं चुनाव अधिकारी ने छहों उम्मीदवार को निर्वाचित घोषित कर दिया, क्योंकि इन सीटों के लिए किसी अन्य उम्मीदवार ने नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया था। शेख मोहम्मद इकबाल दूसरे कार्यकाल के लिये निर्वाचित हुए हैं जबकि वरिष्ठ नेता सी रामचंद्रैया चार साल के अंतराल के बाद विधान परिषद में आए हैं। द्विवार्षिक चुनाव में अन्य निर्वाचित उम्मीदवारों में तिरुपति के दिवंगत सांसद दुर्गा प्रसाद राव के पुत्र बी कल्याण चक्रवर्ती, विजयवाड़ा से मोहम्मद करीमुन्नीसा और श्रीकाकुलम से डी श्रीनिवास निर्वाचित हुए है। 

इसे भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या एक हजार के पार 

सी भगीरथ रेड्डी अपने पिता रामकृष्ण रेड्डी के निधन से खाली हुई कुर्नूल सीट को भरेंगे। उनका कार्यकाल 29 मार्च 2023 तक रहेगा। इनमें से पांच उम्मीदवार विधायक कोटा के तहत द्विवार्षिक चुनाव में छह साल के लिये निर्वाचित हुए हैं जबकि एक उम्मीदवार उपचुनाव में दो साल के कार्यकाल के निर्वाचित हुआ है। इसके साथ ही, राज्य विधान मंडल के 58 सदस्यीय उच्च सदन में वाईएसआर कांग्रेस सदस्यों की संख्या बढ़ कर 14 हो गई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या एक हजार के पार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:39
  • Like
आंध्र प्रदेश में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या एक हजार के पार

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन के अनुसार सोमवार को सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में 61 मरीज ठीक हो गए जबकि दो और मरीजों की मौत हो गई।

अमरावती। आंध्र प्रदेश में सोमवार को संक्रमण के 74 नए मामले सामने आए जिसके बाद कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक बार फिर एक हजार से अधिक हो गई। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन के अनुसार सोमवार को सुबह नौ बजे तक पिछले 24 घंटे में 61 मरीज ठीक हो गए जबकि दो और मरीजों की मौत हो गई। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कारण PCB इन दो दौरों के लिए 30 सदस्यीय टीम भेजने की बना रहा योजना 

बुलेटिन के अनुसार राज्य में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 8,90,766 मामले सामने आ चुके हैं, 8,82,581 मरीज ठीक हो चुके हैं और महामारी से 7,176 मरीजों की मौत हो चुकी है। वर्तमान में 1009 मरीज उपचाराधीन हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भारतीय स्वाधीनता के 75 साल, PM मोदी 12 मार्च को 'अमृत महोत्सव' की करेंगे शुरूआत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 8, 2021   20:35
  • Like
भारतीय स्वाधीनता के 75 साल, PM मोदी 12 मार्च को 'अमृत महोत्सव' की करेंगे शुरूआत

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बताया कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री 12 मार्च को गुजरात में रहेंगे जहां वह अहमदाबाद स्थित साबरमती आश्रम से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे।

गांधीनगर। देश की स्वतंत्रता के 75 साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 मार्च को गुजरात से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ की शुरूआत करेंगे। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इसकी जानकारी दी। रूपाणी ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री साबरमती आश्रम से 21 दिनों तक चलने वाली ‘दांडी यात्रा’ को भी हरी झंडी दिखायेंगे। भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के दौरान महात्मा गांधी साबरमती आश्रम में ही रहते थे। 

इसे भी पढ़ें: जनभागीदारी देश की आजादी के 75वें वर्ष के उत्सव की मूल भावना: PM मोदी 

उन्होंने बताया कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री 12 मार्च को गुजरात में रहेंगे जहां वह अहमदाबाद स्थित साबरमती आश्रम से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम की शुरूआत करेंगे। महात्मा गांधी ने दांडी मार्च की अगुवाई की थी। ब्रिटिश सरकार के नमक के एकाधिकार के खिलाफ 1930 में साबरमती आश्रम से नवसारी के दांडी तक की यात्रा की थी। यह यात्रा 12 मार्च 1930 से लेकर छह अप्रैल 1930 के बीच हुयी थी। 

इसे भी पढ़ें: महिला दिवस पर ममता का दांव, भाजपा को घेरने के लिए निकाला 'पैदल मार्च' 

पिछले हफ्ते केंद्र ने देश की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय राष्ट्रीय समिति के गठन की घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोवार को कहा था कि भारत की स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष के अवसर पर आयोजित होने वाले समारोहों में आजादी के आंदोलन की भावना प्रदर्शित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह 1947 से हमारी उपलब्धियों को दुनिया को दिखाने का अवसर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept