महाभारत- रामायण हिंसात्मक हैं तो येचुरी को अपने नाम से 'सीताराम' हटा लेना चाहिए

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 5 2019 12:53PM
महाभारत- रामायण हिंसात्मक हैं तो येचुरी को अपने नाम से 'सीताराम' हटा लेना चाहिए
Image Source: Google

माकपा मुखपत्र ‘पीपुल्स डेमोक्रेसी’ में लिखे लेख में येचुरी ने कहा था कि भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार बनाने का भाजपा का फैसला हिन्दुत्व ‘‘सांप्रदायिक’’ वोट बैंक को एकजुट करने के उसके प्रयासों का ही विस्तार है।

मुंबई। शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को वामपंथी नेता सीताराम येचुरी से उनके नाम से सीताराम हटाने की सलाह दी है। माकपा महासचिव ने कहा था कि महाभारत और रामायण जैसे हिन्दू महाकाव्य ‘‘हिंसा’’ से भरे हुए हैं। राउत ने येचुरी से पूछा कि क्या वह जम्मू कश्मीर में पाक समर्थिक आतंकवाद के खिलाफ देश की रक्षा करने वाले सुरक्षा बलों की कार्रवाई को भी ‘‘हिंसा’’ कहेंगे।

इसे भी पढ़ें: चुनाव आयोग को चुनाव में बुर्के पर प्रतिबंध लगाना चाहिए: गिरिराज सिंह

राउत ने कहा, ‘‘अगर सीताराम येचुरी रामायण और महाभारत को हिन्दू हिंसा कहते हैं तो उन्हे अपने नाम से सीताराम हटाना चाहिए।’’ माकपा मुखपत्र ‘पीपुल्स डेमोक्रेसी’ में लिखे लेख में येचुरी ने कहा था कि भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर को उम्मीदवार बनाने का भाजपा का फैसला हिन्दुत्व ‘‘सांप्रदायिक’’ वोट बैंक को एकजुट करने के उसके प्रयासों का ही विस्तार है।


इसे भी पढ़ें: क्या विपक्ष हर छह महीने में नया प्रधानमंत्री देना चाहता है: शिवसेना

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video