महाराष्ट्र एटीएस को मिली एक और कामयाबी, देश को दहलाने की साजिश कर रहे संदिग्ध को किया गिरफ्तार !

महाराष्ट्र एटीएस को मिली एक और कामयाबी, देश को दहलाने की साजिश कर रहे संदिग्ध को किया गिरफ्तार !
प्रतिरूप फोटो

दिल्ली पुलिस द्वारा आतंकी साजिश का पर्दाफाश किए जाने के बाद महाराष्ट्र एटीएस ने अबतक 3 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आतंकवादियों में इरफान शेख और पहले पकड़े गए दो आतंकवादियों जाकिर हुसैन शेख और रिजवान मोमिन के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला चल रहा है।

मुंबई। महाराष्ट्र एटीएस ने गुरुवार को एक और आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार किए गए आतंकी इरफान शेख के तार 15 सितंबर को दिल्ली में पकड़े गए 6 आतंकवादियों से जुड़े हैं। दिल्ली पुलिस ने इन आतंकवादियों को गिरफ्तार कर बड़ी साजिश का पर्दाफाश किया था। 

इसे भी पढ़ें: उरी से पकड़े गए 18-साल के आतंकी को भारतीय सेना ने पिलाई चाय, यूजर ने पाकिस्तान को ट्रोल करते हुए पूछा- How's the tea? 

दिल्ली पुलिस द्वारा आतंकी साजिश का पर्दाफाश किए जाने के बाद महाराष्ट्र एटीएस ने अबतक 3 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आतंकवादियों में इरफान शेख और पहले पकड़े गए दो आतंकवादियों जाकिर हुसैन शेख और रिजवान मोमिन के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला चल रहा है।

महाराष्ट्र एटीएस को मुंब्रा आवास से एक टूटा हुआ मोबाइल फोन और कुछ संदिग्ध दस्तावेज मिले थे। जिसके बाद पुलिस ने पाकिस्तान समर्थित आतंकी मॉड्यूल के सिलसिले में रिजवान मोमिन को गिरफ्तार किया था। 

इसे भी पढ़ें: उरी से पकड़े गए बाबर का कबूलनामा, पाकिस्तानी सेना ने दी ट्रेनिंग, ISI ने बड़े आंतकी हमले के लिए भेजा कश्मीर 

पुलों को उड़ाने की मिली थी ट्रेनिंग

पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के बाद पता चला था कि इसका हिस्सा रहे आतंकवादियों को पुलों को उड़ाने की ट्रेनिंग दी गई थी। इसके अलावा इन्हें रेलवे लाइन के बारे में भी बताया गया था। कहा तो यहां तक जा रहा है कि आतंकवादी ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान गए थे लेकिन उनके पासपोर्ट पर कोई भी मुहर नहीं लगी हुई है। बाद में जानकारी मिली की समुद्री रास्ते का इस्तेमाल किया गया था। यह लोग देश को दहलाने की योजना बना रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।