महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख ने शिवसेना से रिश्ते सुधारने के दिए संकेत, फडणवीस की अलग राय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   22:45
महाराष्ट्र भाजपा प्रमुख ने शिवसेना से रिश्ते सुधारने के दिए संकेत, फडणवीस की अलग राय

भाजपा और उसकी पुरानी सहयोगी शिवसेना ने 2019 का विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा था लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों के बीच मतभेद हुआ और शिवसेना ने गठबंधन का साथ छोड़ दिया।

मुंबई। भाजपा के वरिष्ठ नेता चन्द्रकांत पाटिल गठबंधन से दूर हुए सहयोगी दल शिवसेना की ओर मंगलवार को हाथ बढ़ाते दिखे। एक दिन पहले ही भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि वे महाराष्ट्र में अपने बूते पर सरकार बनाने की कोशिश में जुट जाएं। पाटिल के बयान पर हलचल बढ़ने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि एक साथ आने के लिए ना तो भाजपा से और ना ही शिवसेना से कोई प्रस्ताव आया है। 

इसे भी पढ़ें: चिराग पासवान ने सुशांत राजपूत के मामले में उद्धव ठाकरे से की बात, सीबीआई जांच की मांग की

महाराष्ट्र भाजपा के प्रमुख पाटिल ने एक मराठी समाचार चैनल से कहा, ‘‘अगर भाजपा का केन्द्रीय नेतृत्व राज्य के हित में प्रदेश ईकाई को शिवसेना के साथ गठबंधन करने को कहता है... मैं एक बात स्पष्ट कर दूं कि यदि दोनों पार्टियां (भाजपा और शिवसेना) साथ आ भी जाती हैं, तो भी हम भविष्य में साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेंगे।’’ भाजपा और उसकी पुरानी सहयोगी शिवसेना ने 2019 का विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा था लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर दोनों के बीच मतभेद हुआ और शिवसेना ने गठबंधन का साथ छोड़ दिया। उसके बाद शिवसेना ने राकांपा और कांग्रेस के साथ मिलकर महा विकास आघाड़ी (एमवीए) का गठन किया और इस सरकार के मुख्यमंत्री शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बने। मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा का रूख स्पष्ट करते हुए पाटिल ने कहा, ‘‘हम पिछले पांच साल शिवसेना के साथ काफी उदार रहे। यहां तक कि 2019 विधानसभा चुनाव के बाद हम पार्टी के साथ और मंत्री पद साझा करने को तैयार थे, लेकिन राष्ट्रीय दल होने के नाते भाजपा किसी क्षेत्रीय पार्टी के साथ मुख्यमंत्री पद नहीं बांट सकती।’’ 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ गठबंधन करने को भाजपा तैयार ! मगर मुख्यमंत्री पद नहीं देगी

बहरहाल, फडणवीस ने पाटिल के बयान के बाद लग रहे कयासों को विराम दे दिया। विधानसभा में विपक्ष के नेता ने यहां विधान भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘दरअसल, एक सवाल के जवाब में पाटिल ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन को लेकर टिप्पणी की। आज के दिन किसी भी पार्टी (शिवसेना या भाजपा) की तरफ से कोई प्रस्ताव नहीं है।’’ नड्डा ने सोमवार को महाराष्ट्र में पार्टी कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा था कि वे अपने बूते पर राज्य में पार्टी की सरकार बनाने की कोशिश में जुट जाएं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...