महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता पाटिल के बेटे BJP में शामिल, पार्टी छोड़ने पर दी ये प्रतिक्रिया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 13 2019 8:44AM
महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता पाटिल के बेटे BJP में शामिल, पार्टी छोड़ने पर दी ये प्रतिक्रिया
Image Source: Google

शरद पवार नीत राकांपा के अहमदनगर लोकसभा सीट सुजय विखे पाटिल के लिए छोड़ने से इनकार किये जाने के बाद यह कदम उठाया गया है।

मुंबई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल के बेटे सुजय विखे पाटिल अगले महीने होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले मंगलवार को यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए। राधाकृष्ण विखे पाटिल महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता भी हैं। शरद पवार नीत राकांपा के अहमदनगर लोकसभा सीट सुजय विखे पाटिल के लिए छोड़ने से इनकार किये जाने के बाद यह कदम उठाया गया है। सुजय दक्षिणी मुंबई में एक कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष रावसाहेब दानवे की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गए।

भाजपा को जिताए

भाजपा में उनका स्वागत करते हुए फड़णवीस ने कहा कि उनकी पार्टी की संसदीय समिति अहमदनगर लोकसभा सीट के लिए उनके नाम की सिफारिश करेगी। उन्होंने कहा कि जब सुजय विखे पाटिल ने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया था तो उन्होंने कोई शर्त नहीं रखी थी। हम भाजपा के लोग उनकी क्षमता में भरोसा रखते हैं और उनका नाम भाजपा की केंद्रीय संसदीय समिति को सुझाएंगे। दिलीप गांधी अहमदनगर लोकसभा सीट से भाजपा के मौजूदा सांसद हैं।

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: फडणवीस ने उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की

सुजय के दादा दिवंगत बालासाहेब विखे पाटिल ने अहमदनगर उत्तर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया था लेकिन निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन के बाद इसे अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित कर दिया गया था जिससे विखे परिवार यहां से लड़ने के लिए अयोग्य हो गया था। दोनों विपक्षी पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे के मौजूदा फॉर्मुले के हिसाब से कांग्रेस शिरडी लोकसभा सीट (पूर्व में अहमनगर उत्तर) से चुनाव लड़ेगी जबकि राकांपा अहमदनगर (पूर्व में अहमदनगर दक्षिण) सीट से अपना उम्मीदवार उतारेगी। कांग्रेस एवं राकांपा को 2014 के लोकसभा चुनावों में दोनों सीट पर हार का सामना करना पड़ा था।



इससे पहले राधाकृष्णन विखे पाटिल ने अहमदनगर लोकसभा सीट कांग्रेस के साथ बदलने से इनकार करने के राकांपा के फैसले पर निराशा जाहिर की थी। भाजपा में बेटे के शामिल होने पर उन्होंने फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की है। सुजय ने कहा कि भाजपा में शामिल होने से पहले उन्होंने अपने पिता से राय-मशविरा नहीं किया था। इस बीच, कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने सुजय को भगवा पार्टी में शामिल करने के लिए भाजपा पर निशाना साधा और इसे सत्ताधारी पार्टी की ‘बांटो और तोड़ो’ की नीति करार दिया।

इसे भी पढ़ें: मोदी नहीं होंगे RSS की तरफ से PM पद के उम्मीदवार, गडकरी के नाम पर हो रही है चर्चा

चव्हाण ने एक क्षेत्रीय न्यूज चैनल से बातचीत में कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सुजय विखे पाटिल भाजपा में शामिल हो गया। राजनीतिक पार्टियों के साथ भाजपा की ‘बांटो और तोड़ो’ की नीति अनुचित है। मैं भाजपा की ऐसी राजनीति की निंदा करता हूं।’

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video