महाराष्ट्र सरकार ने 10वीं कक्षा के छात्रों के मूल्यांकन मानदंडों की घोषणा की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 28, 2021   16:40
महाराष्ट्र सरकार ने 10वीं कक्षा के छात्रों के मूल्यांकन मानदंडों की घोषणा की

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के कारण राज्य बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द होने के बाद शुक्रवार को छात्रों के मूल्यांकन मानदंडों की घोषणा की।

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के कारण राज्य बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द होने के बाद शुक्रवार को छात्रों के मूल्यांकन मानदंडों की घोषणा की। गौरतलब है किइस साल मार्च में होने वाली परीक्षाओं को कोरोना वायरस महामारी के कारण रद्द किया जा चुका है। राज्य की स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि 10वीं कक्षा (माध्यमिक स्कूल प्रमाणपत्र-एसएससी) की परीक्षाओं में बैठे सभी छात्रों को अगली कक्षा में भेजा जाएगा। इस साल के आंतरिक मूल्यांकन और कक्षा नौ के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें अंक प्रदान किए जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में दिखाई जाएंगी महात्मा गांधी और सत्यजीत रे पर बनीं डॉक्यूमेंट्री

मंत्री ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जून के अंत तक परिणाम घोषित कर दिये जाएंगे। गायकवाड़ ने कहा, बोर्ड परीक्षाओं में बैठे सभी छात्रों को पास करने का निर्णय लिया गया है। प्रत्येक विषय में 100 अंकों के आधार पर छात्रों का मूल्यांकन किया जाएगा। कक्षा 10 में 30 अंक लिखित मूल्यांकन , 20 अंक मौखिक परीक्षा और 50 अंक नौवीं कक्षा के प्रदर्शन पर आधारित होंगे। मंत्री ने कहा 11वीं कक्षा में दाखिले के लिये संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईटी) आयोजित की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: सिद्धार्थनगर में कोरोना टीका का काकटेल लगाने वालों के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई

हालांकि यह वैकल्पिक होगी। सीईटी देने वाले छात्रों को 11वीं कक्षा में दाखिले के दौरान प्राथमिकता दी जाएगी। अन्य शिक्षा बोर्ड के छात्र भी यह परीक्षा दे सकते हैं। गायकवाड़ ने कहा कि 10वीं के पाठ्यक्रम के आधार पर ढाई घंटे की परीक्षा होगी। शेष छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन में मिले अंकों के आधार पर दाखिला दिया जाएगा। मंत्री ने कहा कि यदि 10वीं के छात्रों को लगता है कि वे बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे तो उन्हें इस साल महामारी खत्म होने पर दो परीक्षाएं देने का विकल्प दिया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।