महाराष्ट्र सरकार महिला की मौत मामले में मंत्री को बचा रही : भाजपा

Maharashtra
महाराष्ट्र की भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष चित्रा वाघ ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि राज्य सरकार मंत्री संजय राठौड़ को बचा रही है जिनका नाम एक महिला की मौत के मामले से जुड़ रहा है।

पुणे। महाराष्ट्र की भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष चित्रा वाघ ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि राज्य सरकार मंत्री संजय राठौड़ को बचा रही है जिनका नाम एक महिला की मौत के मामले से जुड़ रहा है। उन्होंने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उल्लेखनीय है कि आठ फरवरी को पुणे के हडपसर इलाके स्थित एक इमारत से कथित तौर पर गिरने से उक्त महिला की मौत हो गई थी। वाघ बृहस्पतिवार को घटनास्थल पर गईं और पुणे के पुलिस उपायुक्त अमिताभ गुप्ता से इस मामले को लेकर मुलाकात की।

इसे भी पढ़ें: किसी अन्य देश के राज्येत्तर तत्व से निपटने के लिए पहले ही हमला किया जा सकता है : भारत

राठौड़ ने मंगलवार को उनपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए दावा किया कि महिला की मौत के बाद ‘गंदी राजनीति’ हो रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मामले की जांचके आदेश दिए हैं और पुलिस अपना काम कर रही है। यहां संवाददाताओं से बृहस्पतिवार को बात करते हुए वाघ ने कहा कि सत्तारूढ़ महा विकास आघाडी के साझेदार राठौड़ को बचाने में एकजुट हैं।

इसे भी पढ़ें: मूडीज ने बढ़ाया भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान, जानिए कितने प्रतिशत रहेगी वृद्धि

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘ हमें मंत्री से कोई उम्मीद नहीं है लेकिन कम से कम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे संवेदनशील व्यक्ति हैं और उन्हें राठौड़ के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।’’ महिला की मौत के बाद मृतका द्वारा कथित रूप से दो व्यक्तियों की बातचीत की ऑडियो क्लिप सामने आयी है। वनवाडी पुलिस थाने के मुताबिक उसने दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज किया है और कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। वाघ ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि ऑडियो क्लिप में सुनाई दे रही एक आवाज संजय राठौड़ की है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन वनवाडी पुलिस राठौड़ के खिलाफ मामला नहीं दर्ज कर रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़