महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, बारिश प्रभावित किसानों के लिए 10,000 करोड़ के पैकेज की घोषणा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 13, 2021   17:13
महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, बारिश प्रभावित किसानों के लिए 10,000 करोड़ के पैकेज की घोषणा

महाराष्ट्र सरकार ने बारिश प्रभावित किसानों के लिये 10 हजार करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की है। सरकार ने एक बयान में कहा, “इस साल जून से अक्टूबर के बीच हुई अत्याधिक भारी बारिश के कारण 55 लाख हेक्टेयर भूमि पर फसल को नुकसान पहुंचा है।

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने उन किसानों के लिये 10 हजार करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की है जिनकी फसल प्रदेश में भारी बारिश के कारण बर्बाद हो गई थी। राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उप मुख्यमंत्री अजीत पवार और लोकनिर्माण विभाग के मंत्री अशोक चव्हाण ने यहां मुंबई में संयुक्त रूप से यह घोषणा की। पवार के पास वित्त मंत्रालय की भी जिम्मेदारी है। सरकार ने एक बयान में कहा, “इस साल जून से अक्टूबर के बीच हुई अत्याधिक भारी बारिश के कारण 55 लाख हेक्टेयर भूमि पर फसल को नुकसान पहुंचा है। किसानों को कुछ राहत पहुंचाने के लिये प्रदेश सरकार ने प्रभावित किसानों को 10 हजार करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने का फैसला किया है।” इसमें कहा गया कि भारी बारिश के कारण जिन किसानों की फसलों का नुकसान हुआ उन्हें मुआवजा दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: PM मोदी का G-16 प्लान, विकास को मिलेगी नई उड़ान, जानें क्या है गति शक्ति योजना और इससे क्या मिलेगा

बयान में कहा गया कि किसानों की जोत का आकार चाहे जो हो उन्हें दो हेक्टेयर जमीन पर फसल के नुकसान के लिये मुआवजा दिया जाएगा। बयान में कहा गया कि प्रदेश सरकार ने सहायता के वितरण के संदर्भ में एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा राहत कोष) के निर्देशों के लिए और इंतजार नहीं करने का फैसला किया है। इसमें कहा गया कि गैर-सिंचित भूमि पर फसल के नुकसान के लिये किसान को 10 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर तथा सिंचित भूमि पर फसल के नुकसान के लिये 15 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा दिया जाएगा। बयान में कहा गया कि बहुवर्षीय फसल जो बागवानी के तहत आती है, के लिये किसानों को मुआवजे के तौर पर प्रति हेक्टेयर 25 हजार रुपये दिए जाएंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...