पुणे :राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में दौड़ के दौरान मालदीव के कैडेट की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 26, 2021   06:26
पुणे :राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में दौड़ के दौरान मालदीव के कैडेट की मौत
प्रतिरूप फोटो

एनडीए ने वक्तव्य में कहा, “ कैडेट की मृत्यु के कारण का पता लगाने के लिए उसके शव का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा। कैडेट इस साल 12 मार्च को एनडीए के145 कोर्स के हिस्से के रूप में शामिल हुआ था और वह कोर्स के दूसरे चरण में था।

 पुणे में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में शनिवार को प्रशिक्षण अभ्यास के दौरान 21 वर्षीय एक कैडेट की अचेत होकर गिरने के बाद मौत हो गई।

एनडीए ने देर रात एक वक्तव्य जारी कर यह जानकारी दी। मृतक की पहचान मालदीव के मोहम्मद सुल्तान इब्राहिम के रूप में की गयी है। इससे पहले, पुलिस उपायुक्त (जोन 3) पूर्णिमा गायकवाड़ ने बताया कि कैडेट मोहम्मद सुल्तान इब्राहिम मालदीव का निवासी था।

उन्होंने बताया कि इब्राहिम पिछले छह महीने से एनडीए में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे थे। उन्होंने बताया कि 12 किलोमीटर की ‘जोश रन’ के दौरान इब्राहिम अचेत हो गया जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस उपायुक्त ने बताया कि उन्होंने उत्तम नगर थाने के निरीक्षक को इस मौत की जांच करने का निर्देश दिया है क्योंकि एनडीए इसी थाना क्षेत्र में आता है। देश की प्रमुख रक्षा अकादमी ने अपने बयान में कहा कि अहमद “एक संगठित प्रशिक्षण गतिविधि” के दौरान गिर गया और सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका।

एनडीए ने वक्तव्य में कहा, “ कैडेट की मृत्यु के कारण का पता लगाने के लिए उसके शव का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा। कैडेट इस साल 12 मार्च को एनडीए के145 कोर्स के हिस्से के रूप में शामिल हुआ था और वह कोर्स के दूसरे चरण में था। इस घटना की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया गया है।” मालदीव के दूतावास को इस घटना के बारे में सूचित कर दिया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।