मल्लिकार्जुन खड़गे से ED ने लगभग 7 घंटे तक की पूछताछ, जयराम रमेश बोले- यह शुद्ध रूप से उत्पीड़न

Mallikarjun Kharge
ANI
अंकित सिंह । Aug 04, 2022 8:31PM
जयराम रमेश ने कहा कि यह शुद्ध उत्पीड़न है। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर जीएसटी के खिलाफ कल सभी राज्यों में कांग्रेस की विरोध रैली से पहले मोदी सरकार ने यह ड्रामा रचा है

यंग इंडिया के एक मामले में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे आज प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पूछताछ के लिए पेश हुए। प्रवर्तन निदेशालय की ओर से उन से लगभग 7 घंटे तक पूछताछ की गई। हालांकि, अब वह प्रवर्तन निदेशालय के ऑफिस से पूछताछ के बाद बाहर निकल चुके हैं। इन सबके बीच कांग्रेस का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल जारी है। कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद जयराम रमेश ने कहा कि 7 घंटे हो चुके हैं और हमारे नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को प्रवर्तन निदेशालय ने संसद सत्र के दौरान ही तलब किया था। उनसे लगातार पूछताछ की गई। यह पूरी तरह से खेद जनक है। इसके आगे जयराम रमेश ने कहा कि आज मल्लिकार्जुन खड़गे की ओर से विपक्ष की साझा उपराष्ट्रपति उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा के लिए रात्रि भोज का आयोजन किया गया था। इसमें सभी विपक्षी पार्टी के सदस्यों का आमंत्रण भी गया था। लेकिन आज ही के दिन यह पूछताछ की गई है।

इसे भी पढ़ें: ED की कार्रवाई को लेकर संसद में महासंग्राम, मल्लिकार्जुन खड़गे और पीयूष गोयल के बीच हुई बहस

इसके साथ ही जयराम रमेश ने कहा कि यह शुद्ध उत्पीड़न है। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर जीएसटी के खिलाफ कल सभी राज्यों में कांग्रेस की विरोध रैली से पहले मोदी सरकार ने यह ड्रामा रचा है... सोनिया गांधी के आवास और एआईसीसी के मुख्यालय के बाहर कई सुरक्षा बलों को तैनात किया गया था। इससे पहले जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा था कि जब संसद का सत्र चल रहा है तब ईडी ने राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को समन भेजा। वे दोपहर लगभग 12:20 बजे संसद से निकले और ईडी के समक्ष पेश हुए। मोदीशाही का स्तर हर दिन नीचे गिरता जा रहा है। वहीं, बृहस्पतिवार सुबह खड़गे ने राज्यसभा में कहा, ‘‘सदन की बैठक हो रही है। मैं भी इस सदन का एक सदस्य हूं और विपक्ष का नेता भी हूं। लेकिन मुझे इस वक्त ईडी का समन आता है कि जल्दी आइए।

इसे भी पढ़ें: संजय राउत की गिरफ्तारी को लेकर खड़गे ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वो संसद को करना चाहते हैं विपक्ष मुक्त

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि ईडी और जांच एजेंसी द्वारा नेता प्रतिपक्ष को संसद सत्र के दौरान बुलाया जाए, इसका कोई उदाहरण लोकतंत्र के इतिहास में नजर नहीं आता। अगर खड़गे को बुलाना ही था, सुबह 11 बजे के पहले बुला लेते या शाम पांच बजे के बाद बुला लेते। उनका कहना था कि सदन चल रहा है तो खड़गे को ईडी बयान देने के लिए बुला रहा है। लोकतंत्र का इससे बड़ा मजाक न हमने देखा है, न सुना है। आखिर मोदी जी इतने डरते क्यों हैं? कांग्रेस ने शुक्रवार को महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ राष्ट्रव्यापी मार्च का आह्वान कर रखा है। कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि आज तक कभी नहीं हुआ कि जब नेता प्रतिपक्ष का सदन में नोटिस लगा हो तो उस वक्त जांच एजेंसी ने उन्हें बुलाया हो। यह नियमावली, संविधान और स्थापित परंपराओं का अपमान है। यह संपूर्ण विधायिका का अपमान है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़