ममता बनर्जी ने कोविड-19 टीके की कीमत में अंतर को लेकर भाजपा सरकार की ओलाचना की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 22, 2021   14:31
ममता बनर्जी ने कोविड-19 टीके की कीमत में अंतर को लेकर भाजपा सरकार की ओलाचना की

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को आपूर्ति की जाने वाली कोविड-19 टीके की खुराक की कीमत में अंतर को लेकर भाजपा सरकार पर बृहस्पतिवार को हमला किया और कहा कि सभी खरीदारों के लिए कीमतें एक होनी चाहिए।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को आपूर्ति की जाने वाली कोविड-19 टीके की खुराक की कीमत में अंतर को लेकर भाजपा सरकार पर बृहस्पतिवार को हमला किया और कहा कि सभी खरीदारों के लिए कीमतें एक होनी चाहिए। भाजपा के नारे ‘एक देश, एक पार्टी, एक नेता’ का मजाक उड़ाते हुए बनर्जी ने जोर दिया कि सभी भारतीयों को उसकी उम्र और निवास से परे मुफ्त में टीका मुहैया कराया जाना चाहिए। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने ट्वीट किया, ‘‘एक देश, एक पार्टी, एक नेता का नारा भाजपा हमेशा लगाती रहती है लेकिन जिंदगी बचाने के लिए उनके पास टीके की एक कीमत नहीं है। हर भारतीय को उम्र, जाति, नस्ल, निवास स्थान से परे मुफ्त में टीके की जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी का आरोप, आक्रांता की भूमिका में है उत्तर प्रदेश सरकार

भारत सरकार कोविड-19 टीके की बस एक कीमत तय करे चाहे उसे केंद्र खरीदे या राज्य।’’ उल्लेखनीय है कि ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ ने बुधवार को अपने टीके ‘कोविशील्ड’ की कीमतों की घोषणा की जिसके मुताबिक राज्य सरकारों को 400 रुपये प्रति खुराक की दर से जबकि निजी अस्पतालों को 600 रुपये प्रति खुराक की दर से टीके की आपूर्ति की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: शिवसेना ने लॉकडाउन को आखिरी विकल्प के रूप में अपनाने के प्रधानमंत्री के सुझाव पर सवाल उठाया

पुणे स्थित कंपनी केंद्र सरकार को कोविशील्ड 150 रुपये प्रति खुराक की दर से मुहैया करा रही है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में बुधवार को 10,784 नए मामले आए जिन्हें मिलाकर राज्य में अब तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 6,88,956 हो गई है। वहीं 58 और मौतों के साथ पश्चिम बंगाल में जान गंवाने वालों की संख्या 10,710 तक पहुंच गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।