कोविड संकट से निपटने में सहयोग के लिए ममता बनर्जी ने PM मोदी को दिया धन्यवाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 28, 2020   07:36
कोविड संकट से निपटने में सहयोग के लिए ममता बनर्जी ने PM मोदी को दिया धन्यवाद

ममता बनर्जी ने किसी का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘मैं कोविड संकट पर कई बार विचार-विमर्श करने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देना चाहती हूं। अभी तक उनकी ओर से कोई असहयोग नहीं हुआ है। मैं इसके लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहती हूं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के संकट से निपटने में सहयोग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोमव़ार को धन्यवाद दिया, लेकिन साथ ही आरोप लगाया कि ‘‘संवैधानिक पदों पर आसीन कुछ लोग’’ लगातार राज्य सरकार को परेशान कर रहे हैं। अपने इस आरोप से बनर्जी अप्रत्यक्ष रूप से पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर निशाना साध रही थी, जो पिछले साल जुलाई में पदभार संभालने के बाद से ही कई मुद्दों को लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की सरकार से उलझते रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में नए कोविड-19 जांच केन्द्रों का उद्घाटन किए जाने के कार्यक्रम से ऑनलाइन जुड़ी बनर्जी ने कहा कि केन्द्र और राज्य की सरकारें निर्वाचित संस्था हैं और दोनों को साथ मिलकर काम करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से निपटने के लिये बंगाल की पूरी बकाया राशि का भुगतान करे केंद्र: ममता

बनर्जी ने किसी का नाम लिए बगैर कहा, ‘‘मैं कोविड संकट पर कई बार विचार-विमर्श करने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देना चाहती हूं। अभी तक उनकी ओर से कोई असहयोग नहीं हुआ है। मैं इसके लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहती हूं। लेकिन कुछलोग, जो संवैधानिक पदों पर आसीन हैं, लगातार राज्य सरकार को परेशान कर रहे हैं। यह स्वीकार्य नहीं है। बनर्जी की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने सोमवार को कहा कि राज्यपाल ने राज्य सरकार की गलतियां बताकर सही काम किया है। उन्होंने कहा, ‘‘तृणमूल सरकार जिस तरह से राज्यपाल का अपमान कर रही है, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।