मानेसर भूमि मामला: ईडी ने दिल्ली, हरियाणा में छापे मारे

गुरूग्राम के मानेसर में भूमि अधिग्रहण में कथित अनियमितताओं से संबंधित धन शोधन मामले की जांच को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने आज दिल्ली और हरियाणा में करीब 10 स्थानों पर छापेमारी की।

गुरूग्राम के मानेसर में भूमि अधिग्रहण में कथित अनियमितताओं से संबंधित धन शोधन मामले की जांच को लेकर प्रवर्तन निदेशालय ने आज दिल्ली और हरियाणा में करीब 10 स्थानों पर छापेमारी की। इस मामले में किसानों और भूमि मालिकों को लगभग 1,500 करोड़ रूपये की चपत लगाई गई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पिछले वर्ष सितंबर माह में धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की थी जिसमें हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा का आरोपी के तौर पर नाम है।

ईडी अधिकारियों ने बताया कि आठ लोगों के परिसरों की तलाशी ली गई जिनमें आईएएस अधिकारी, हरियाणा सरकार के अधिकारी और बिल्डर शामिल हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली, गुरूग्राम तथा हरियाणा में कुछ अन्य स्थानों समेत करीब दस स्थानों पर छानबीन की गई। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर ईडी ने हुड्डा के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज की। आरोप थे कि हरियाणा सरकार के कुछ अज्ञात अधिकारियों ने निजी बिल्डरों के साथ मिलीभगत और साजिश करके वर्ष 2004 से वर्ष 2007 के बीच गुरूग्राम जिले के मानेसर, नौरंगपुर और लखनौला गांवों में लगभग 400 एकड़ भूमि बेहद मामूली कीमतों पर खरीदी। भूमि मालिकों को डर दिखाया गया था कि जमीन का सरकार अधिग्रहण कर लेगी। जिसके बाद पिछले वर्ष मामला दर्ज किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़