क्या दिल्ली में खुलने चाहिए स्कूल और कॉलेज ? शिक्षा मंत्री ने अभिभावकों से मांगे सुझाव

क्या दिल्ली में खुलने चाहिए स्कूल और कॉलेज ? शिक्षा मंत्री ने अभिभावकों से मांगे सुझाव

शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से स्कूलों और कॉलेजों के विषय पर अभिभावकों के सुझाव जानने के लिए ईमेल आईडी जारी की।

नयी दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर में अब संक्रमण के मामलों में कमी आने लगी है। इसी बीच स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोलने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि कई राज्यों ने स्कूलों को खोल दिया है। इसी संबंध में दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने अभिभावकों से सुझाव मांगे हैं। शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से स्कूलों और कॉलेजों के विषय पर अभिभावकों के सुझाव जानने के लिए ईमेल आईडी जारी की। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली बारिश: जलभराव के कारण साकेत मेट्रो स्टेशन के प्रवेश, निकास द्वार बंद किये गये 

आपको बता दें कि दिल्ली के अभिभावक केजरीवाल सरकार को अपने सुझाव [email protected] पर भेज सकते हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि दिल्ली में स्कूल और कॉलेज खोलने से पहले मैं स्कूल और कॉलेज के छात्रों, प्रिंसिपल, शिक्षकों और माता-पिता से पूछना चाहता हूं कि क्या अब हमें स्कूल और कॉलेज खोल देना चाहिए ? अगर खोलना चाहिए तो आपके इस पर क्या सुझाव हैं ? सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं। 

इसे भी पढ़ें: गोवा में भाजपा 24 घंटे बिजली देने में रही नाकाम, सरकार बनी तो हम दिल्ली की तरह देंगे मुफ्त: केजरीवाल 

उन्होंने बताया कि दिल्ली में रोजाना 70-75 हजार कोरोना के टेस्ट हो रहे हैं। जिसमें से 40-50-60 लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि कोरोना की स्थिति काफी नियंत्रण में है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि आप ईमेल में अपना नाम, स्कूल/कॉलेज का नाम लिखिए। इसके अलावा आप बहुत लंबा नहीं महज 100 शब्दों का सुझाव हमें भेजिए। आपके सुझाव के आधार पर सरकार इस पर अपना फैसला करेगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...