पी वी नरसिंह राव की 100वीं जयंती पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दी श्रद्धांजलि

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 28, 2021   17:07
पी वी नरसिंह राव की 100वीं जयंती पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव को उनकी 100वीं जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि राव एक दुर्लभ विद्वान और राजनेता थे, जिन्होंने देश की आर्थिक और विदेश नीतियों को नयी दिशा दी।

हैदराबाद। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव को उनकी 100वीं जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि राव एक दुर्लभ विद्वान और राजनेता थे, जिन्होंने देश की आर्थिक और विदेश नीतियों को नयी दिशा दी। सिंह तेलंगाना में कांग्रेस द्वारा आयोजित राव जन्म शताब्दी समारोह के समापन कार्यक्रम को डिजिटल तरीके से संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नरसिंह राव सरकार द्वारा शुरू किए गए आर्थिक सुधारों के विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक यह भी था कि उन्होंने भारतीय स्थिति की वास्तविकताओं की अनोखी प्रकृति को ध्यान में रखा।

इसे भी पढ़ें: केरल के मुख्यमंत्री से कन्नड़ नामों को नहीं बदलने का अनुरोध करेंगे येदियुरप्पा

उन्होंने कहा कि राव ने शिद्दत से महसूस किया कि सुधारों में भारतीय चिंताओं को ध्यान में रखना होगा और देश के गरीबों और मेहनतकश लोगों के हितों की रक्षा करनी होगी। उन्होंने कहा कि राव ने देश की विदेश नीति में यथार्थवाद को सामने लाया और पड़ोसी देशों के साथ भारत के संबंधों को सुधारने की कोशिश की। सिंह ने कहा कि राव ने भारत को विभिन्न पूर्व और दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों से जोड़ने वाली नीति शुरू की, जिसे ‘‘लुक ईस्ट पॉलिसी’’ के रूप में जाना जाता है। उन्होंने कहा कि राव के नेतृत्व में बैलिस्टिक मिसाइल प्रौद्योगिकी कार्यक्रम शुरू किया गया और संवर्धित उपग्रह प्रक्षेपण यान का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। उन्होंने कहा कि राव वास्तव में राजनीति में संन्यासी थे। सिंह ने मशहूर हृदय रोग विशेषज्ञ और पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पीएचएफआई) के प्रमुख के श्रीनाथ रेड्डी की सराहना की। आयोजन समिति द्वारा रेड्डी को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया गया है। जब राव प्रधानमंत्री थे,उस दौरान श्रीनाथ रेड्डी उनके निजी चिकित्सक थे। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी इस कार्यक्रम को डिजिटल तरीके से संबोधित किया।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर: आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का शीर्ष कमांडर नदीम अबरार गिरफ्तार

उन्होंने कहा कि राव के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के दौरान (1990 के दशक में) आतंकवाद को नियंत्रित किया गया था। उन्होंने कहा कि पंजाब और जम्मू-कश्मीर में 1990 के दशक में सामान्य स्थिति बहाल हुयी और तब से जम्मू-कश्मीर में नियमित चुनाव हुए। उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने परमाणु परीक्षण का श्रेय नरसिंह राव सरकार को दिया था। खड़गे ने प्रधानमंत्री के रूप में राव की कई अन्य ऐतिहासिक उपलब्धियों की भी चर्चा की। श्रीनाथ रेड्डी ने कोविड​​​​-19 पर चर्चा की और महामारी पर काबू के लिए टीकाकरण में तेजी लाने, सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत बनाने करने के महत्व पर जोर दिया। राव के भाई पीवी मनोहर राव, तेलंगाना में कांग्रेस मामलों के एआईसीसी प्रभारी और सांसद मणिकम टैगोर, सांसद एन उत्तम कुमार रेड्डी, पूर्व मंत्री जे गीता रेड्डी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।