महाराष्ट्र सरकार के मराठा आरक्षण मामले को बंबई हाई कोर्ट में चुनौती

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Dec 4 2018 10:53AM
महाराष्ट्र सरकार के मराठा आरक्षण मामले को बंबई हाई कोर्ट में चुनौती
Image Source: Google

बम्बई उच्च न्यायालय में सोमवार को याचिका दायर कर महाराष्ट्र सरकार के मराठा समुदाय के लोगों को शिक्षा एवं सरकारी नौकरियों में 16 फीसदी आरक्षण देने के फैसले को चुनौती दी गयी है।

मुंबई। बम्बई उच्च न्यायालय में सोमवार को याचिका दायर कर महाराष्ट्र सरकार के मराठा समुदाय के लोगों को शिक्षा एवं सरकारी नौकरियों में 16 फीसदी आरक्षण देने के फैसले को चुनौती दी गयी है। याचिकाकर्ता जयश्री पाटिल की तरफ से पेश होने वाले अधिवक्ता जी सदावर्ते ने दावा किया कि राज्य सरकार का निर्णय उच्चतम न्यायालय के आदेश का उल्लंघन है । शीर्ष अदालत का कहना है कि किसी भी राज्य में आरक्षण 50 फीसदी से अधिक नहीं होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: चुनावी वर्ष में भाजपा ने किया मराठाओं को खुश, दे दिया 16% आरक्षण

सदावर्ते संभवत: इस याचिका का मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एन एच पाटिल और नयायमूर्ति एम एस कार्णिक की खंड पीठ में छह दिसंबर को जिक्र करेंगे। इस बीच, महाराष्ट्र सरकार ने 1 दिसंबर को उच्च न्यायालय में इस कानून को चुनौती की आशंका के मद्देनजर एक कैविएट याचिका दायर की थी। कैविएट में अदालत से यह गुजारिश की गयी थी कि महाराष्ट्र आरक्षण कानून पर राज्य सरकार का पक्ष जाने बिना किसी भी याचिका पर कोई आदेश पारित नहीं किया जाए।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story