इंदौर में आग लगने से 7 लोगों की मौत, सीएम शिवराज सिंह ने जताया दुख; मुआवजे का ऐलान

fire
ANI
इंदौर की इमारत में भीषण आग लगने से सात लोगों की मौत हो गई है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। विजय नगर पुलिस थाने के प्रभारी तहजीब काजी के मुताबिक, आग से प्रभावित रिहायशी इमारत से पांच लोगों को मृत अवस्था में बाहर निकाला गया।

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में शनिवार तड़के तीन मंजिला एक रिहायशी इमारत में भीषण आग लगने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गई, जबकि 11 अन्य घायल हो गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। विजय नगर पुलिस थाने के प्रभारी तहजीब काजी के मुताबिक, आग से प्रभावित रिहायशी इमारत से पांच लोगों को मृत अवस्था में बाहर निकाला गया, जबकि 11 अन्य को घायल हालत में अस्पताल भेजा गया है।

इस घटना को लेकर मध्य प्रदेश  के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विट कर संवेदना जताई और लिखा कि इंदौर के स्वर्ण बाग कॉलोनी में शॉर्ट सर्किट से हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के असमय निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ।

ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह गहन दुःख सहन करने की शक्ति देने तथा घायलों को शीघ्र स्वस्थ करने की प्रार्थना करता हूं।

उन्होंने आगे लिखा कि इंदौर में आग लगने की घटना में मौत की खबर अत्यंत ह्रदय विदारक है। मैंने इसके जांच के आदेश दे दिए हैं। जिसकी भी लापरवाही सामने आएगी, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए दिए जाएंगे।

इसे भी पढ़ें: बतौर मुख्यमंत्री अपने प्रदर्शन पर प्रशांत किशोर के आकलन को कोई महत्व नहीं देते नीतीश

उन्होंने बताया कि आग बिजली के मीटर में शॉर्ट सर्किट के कारण लगी और इसने सबसे पहले इमारत की पार्किंग में खड़ी गाड़ियों को अपनी चपेट में लिया। काजी के अनुसार, अग्निकांड में जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से ज्यादातर की जान धुएं से दम घुटने के कारण गई। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है और मामले की विस्तृत जांच की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़