यूपी चुनाव में मायावती का नारा, हर पोलिंग बूथ को जिताना है, बसपा को सत्ता में लाना है

यूपी चुनाव में मायावती का नारा, हर पोलिंग बूथ को जिताना है, बसपा को सत्ता में लाना है

आज मायावती ने अपने प्रत्याशियों और पार्टी कार्यकर्ताओं से इस बात की भी अपील की कि वह कोरोना नियमों का पालन करते हुए ही चुनावी मैदान में उतरे। मायावती ने कहा कि बसपा उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में पूरी ताकत पर तैयारी के साथ अकेले चुनाव में उत्तर रही है लेकिन पंजाब ने हमने अकाली दल के साथ गठबंधन किया है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सभी पार्टियां अपनी दावेदारी पेश कर रही हैं। मुख्य मुकाबला भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच होता दिखाई दे रहा है। इन सब के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती भी विधानसभा चुनाव में दमखम लगा रही हैं। इसी कड़ी में आज पार्टी की ओर से दूसरे चरण के 55 सीटों पर होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए 51 प्रत्याशियों की घोषणा की गई। इसके साथ ही बसपा प्रमुख मायावती ने एक चुनावी नारा भी दे दिया। मायावती ने कहा कि हर पोलिंग बूथ को जिताना है, बसपा को सत्ता में लाना है। हालांकि यह बात भी सच है कि इस बार के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मायावती ने अब तक उतने सक्रियता नहीं दिखाई है जितनी उनसे उम्मीद की जाती है।

आज मायावती ने अपने प्रत्याशियों और पार्टी कार्यकर्ताओं से इस बात की भी अपील की कि वह कोरोना नियमों का पालन करते हुए ही चुनावी मैदान में उतरे। मायावती ने कहा कि बसपा उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में पूरी ताकत पर तैयारी के साथ अकेले चुनाव में उत्तर रही है लेकिन पंजाब ने हमने अकाली दल के साथ गठबंधन किया है। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि हमारी पार्टी को इन दोनों राज्यों में अच्छे परिणाम मिलेंगे और उसका गठबंधन पंजाब में अच्छा प्रदर्शन करेगा। उल्लेखनीय है कि बसपा प्रत्याशियों की पहली सूची 15 जनवरी को जारी की गयी थी।

इसे भी पढ़ें: पलायन की याद दिलाकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विरोध के माहौल को पलट रही है भाजपा

उत्तर प्रदेश में चुनाव की शुरुआत 10 फरवरी को राज्य के पश्चिमी हिस्से के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी। दूसरे चरण में 14 फरवरी को राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा। उत्तर प्रदेश में 20 फरवरी को तीसरे चरण में 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण में 60 सीटों पर, 27 फरवरी को पांचवें चरण में 60 सीटों पर, तीन मार्च को छठे चरण में 57 सीटों पर और सात मार्च को सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।