मेरठ : up में स्वास्थ्य उपकरण खरीद घोटले में सीबीआई द्वारा जांच की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी का कमिश्नरी पर मटका फोड़ प्रदर्शन

AAP protest
Rajeev Sharma । Aug 26, 2021 11:27AM
आम आदमी पार्टी ने बुधवार को जिला मुख्यालय पर मटका फोड़ आंदोलन किया और जल जीवन मिशन में हुए घोटालों की सीबीआई जांच की आवाज उठाई।इस दौरान पार्टी कार्यकर्ता ने कमिश्नरी चौराहे से पैदल चलते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर मटके फोड़कर विरोध जताया।

मेरठ ,आम आदमी पार्टी ने बुधवार को जिला मुख्यालय पर मटका फोड़ आंदोलन किया और जल जीवन मिशन में हुए घोटालों की सीबीआई जांच की आवाज उठाई।इस दौरान पार्टी कार्यकर्ता ने कमिश्नरी चौराहे से पैदल चलते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर मटके फोड़कर विरोध जताया। उत्तर प्रदेश में ‘जल जीवन मिशन’में हुए हजारों करोड़ों रुपए के घोटाला के संदर्भ में विरोध प्रदर्शन किया। प्रदेश उपाध्यक्ष के साथ जिलाध्यक्ष अंकुश चौधरी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता कमिशनरी पार्क पर इकट्ठा होकर मटका फोड़ो आंदोलन की शुरूवात की व जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन दिया गया ।

प्रदर्शन के दौरान अंकुश चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने सब तथ्यों के बावजूद भी राज्य जल शक्ति मंत्री द्वारा नियमों को ताक पर रखकर ‘रश्मि मटेलिक्स’ कंपनी को पाइप सप्लाई का कार्य दे दिया गया है । उत्तर प्रदेश में ‘जल जीवन मिशन’ के क्रियान्वयन में भारी आर्थिक अनियमिततायें सामने आयी है, जो कार्य उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा लगभग रु 1580 एवं रु1501 में संपन्न हो जाता है, वही कार्य जल जीवन मिशन के अंतर्गत लगभग रु2065 एवं रु2100 में करवाया जा रहा है। इस तरह भ्रष्टाचार के कारण राज्य में मिशन के हर कार्य के लागत सामान्य से 30% से 40% तक बढ़ गई है। वहीं थर्ड पार्टी इन्स्पेक्शन के लिए भी यूपी सरकार ने 1.33% धन खर्च किया है जबकि केरल ने 0.04% और चेन्नई ने 0.15% में ही इसे संपन्न कर लिया। इस तरह से उत्तर प्रदेश में ‘जल जीवन मिशन’ के अंतर्गत भारी आर्थिक अनियमितता एवं भयानक भ्रष्टाचार सामने आया है।

आपको बता दे की आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश में जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन में हजारों करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप लगते हुए खुलासा किया था। सांसद ने कहा था कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए ‘जल जीवन मिशन’ के अंतर्गत वर्ष 2020-21 में राज्यों को रु1 लाख 20 हजार करोड़ का भुगतान हुआ था। उन्होंने आगे आरोप लगते हुए कहा था की उत्तर प्रदेश सरकार के जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह एवं अन्य अधिकारियों के द्वारा किए गए जिससे लगभग हजारों करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश में ‘जल जीवन मिशन’ के अंतर्गत हर घर पानी पँहुचाने हेतु पाइप सप्लाई का कार्य ‘रश्मि मटेलिक्स’ कंपनी को दिया गया है। केंद्रीय आर्थिक सूचना ब्यूरो (CEIC) ने अपनी जाँच में पाया था कि यह कंपनी फ़र्जी निवेश तथा फ़र्जी शेल कंपनियाँ बनाने में भी लिप्त है।

आंदोलन में प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष किसान प्रकोष्ठ बाबा विक्रमाजीत सिंह,आप माइनॉरिटी विंग प्रदेश, जिला अध्यक्ष संस्कृतिक प्रकोष्ठ जूही त्यागी, डॉ गुरमिन्दर सिंह,माइनॉरिटी विंग प्रदेश सचिव मदन सिंह मान, प्रदेश उपाध्यक्ष यूथ कपिल शर्मा, सचिव दीपक चौधरी, जिला महासचिव गौहर रजा सिद्दकी,जिला वरिष्ठ उपड6 राजा राम यादव, जय भगवान शर्मा,जिला उपाध्यक्ष तरुण गोयल अन्य मौजूद रहे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़