• मेरठ : होटल व्यवसायी रमेश ढींगरा ने कांग्रेस पार्टी को कहा अलविदा

रविवार को पार्टी छोड़ते समय उन्होंने साफ कहा कि वे अब किसी अन्य राजनीतिक दल में शामिल नहीं होंगे, लेकिन कांग्रेस से जुड़कर कैद में भी नहीं रहना चाहते। पार्टी छोड़ते ही उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कांग्रेस को गद्दार बता दिया। इस दौरान उन्होंने भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री मोदी व सीएम योगी की भी जमकर तारीफ की।

मेरठ, विधानसभा चुनाव से पहले उत्तरप्रदेश के मेरठ में कांग्रेस काे बड़ा झटका लगा है। मेरठ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पॉश बाजार आबूलेन में राजमहल होटल के मालिक रमेश ढींगरा ने रविवार को पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया। रमेश ढींगरा कांग्रेस पार्टी की तरफ से मेरठी की कैंट विधानसभा सीट से चार विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, हालांकि हर बार उन्हें हार का सामना ही करना पड़ा। रविवार को पार्टी छोड़ते समय उन्होंने साफ कहा कि वे अब किसी अन्य राजनीतिक दल में शामिल नहीं होंगे, लेकिन कांग्रेस से जुड़कर कैद में भी नहीं रहना चाहते। पार्टी छोड़ते ही उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कांग्रेस को गद्दार तक बता दिया। इस दौरान उन्होंने भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री मोदी व सीएम योगी की भी जमकर तारीफ की।

आबूलेन स्थित राजमहल होटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद की सोच से ओतप्रोत कांग्रेस पार्टी अब नेतृत्व विहीन होने के साथ ही दिशा विहीन भी हो चुकी है। ऐसे में दुखी मन से कांग्रेस का अलविदा कहना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि पंजाबी संगठन की पूरी कार्यकारिणी से विचार विमर्श करने बाद ये निर्णय लिया गया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अच्छा कार्य कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अभी किसी पार्टी में जाने का निर्णय नहीं लिया है। हालांकि जिस तरह से उन्होंने योगी और मोदी की प्रशंसा की उससे साफ हो गया कि भाजपा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा भी कि लोकसभा चुनाव में उन्होंने भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल का साथ दिया था। चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि वह विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि कैंट विधानसभा क्षेत्र में 50 हजार के करीब पंजाबी वोट हैं, पूरी पंजाबी बिरादरी में रमेश धींगड़ा की अच्छी पकड़ है। समाज के लोगों में धींगड़ा का मजबूत जनाधार है। रमेश के जाने से ये वोटर भी कांग्रेस से छिटकेगा।