• PM की बैठक में शामिल होंगे गुपकार गुट के नेता, बोले- J&K और लद्दाख के हक की बात पर हां करेंगे

जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि हमें उम्मीद है कि हम अपनी समस्याओं को प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के सामने रखेंगे। बैठक समाप्त हो जाने के बाद हम आपको बताएंगे कि हमने क्या कहा और उन्होंने क्या कहा।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 24 जून को प्रदेश के क्षेत्रीय दलों की सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक को लेकर श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला की अध्यक्षता में गुपकार गुट की बैठक हुई। जिसमें पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती समेत 7 नेता मौजूद रहे। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा बुलाई गई बैठक में जाने के विषय पर चर्चा हुई। 

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी की बैठक को लेकर दूसरे दिन भी राजनीतिक दलों में चर्चा जारी 

जम्मू-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस प्रमुख फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि हमें उम्मीद है कि हम अपनी समस्याओं को प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के सामने रखेंगे। बैठक समाप्त हो जाने के बाद हम आपको बताएंगे कि हमने क्या कहा और उन्होंने क्या कहा। बैठक में जाने के सवाल पर फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि जिन्हें भी बैठक में बुलाया गया है वो सब जाएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र के द्वारा कोई भी एजेंडा फिक्स नहीं है। आप किसी भी विषय पर बोल सकते हैं। 

गुपकार संगठन के नेता मुजफ्फर शाह ने कहा कि हम आसमान के तारे तो नहीं मागेंगे। जो हमारा रहा है हम वहीं मागेंगे। इस बैठक के एजेंडे के बारे में हम जानकारी नहीं है। हम वहां जाकर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों की वकालत करेंगे। उन्होंने धारा 370 और 35ए के विषय पर चर्चा किए जाने की भी बात कही। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के डीजीपी का बयान, घाटी में अच्छी खासी तादाद में विदेशी आतंकवादी मौजूद 

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हम वार्ता के खिलाफ नहीं है। आप सब जानते थे कि मुफ्ती साहब हर बार डॉयलॉग के साथ शुरुआत करते थे। इस दौरान उन्होंने कोरोना की वजह से जेलों से छोड़े गए कैदियों के बारे में कहा। उन्होंने कहा कि पूरे मुल्क की जेलों में बंद कैदियों को कोविड की वजह से रिहा किया गया। जम्मू-कश्मीर के सियासी और अन्य कैदियों को भी रिहा किया जाना चाहिए था।