Meghalaya: विधानसभा चुनाव से पहले 5 विधायकों ने दिया इस्तीफा, ये है वजह

Meghalaya
creative common
अभिनय आकाश । Jan 18, 2023 1:22PM
कैबिनेट मंत्री और हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (HSPDP) के विधायक रेनिक्टन लिंगदोह तोंगखर, तृणमूल कांग्रेस के विधायक शीतलंग पाले, कांग्रेस के निलंबित विधायक मायरालबॉर्न साइम और पीटी सॉकमी और निर्दलीय विधायक लाम्बोर मालनगियांग ने अपना इस्तीफा दे दिया।

चुनाव आयोग द्वारा नागालैंड, मेघालय और त्रिपुरा विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा से पहले मेघालय के पांच विधायकों ने अपना इस्तीफा दे दिया है और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी में शामिल होने के लिए तैयार हैं। इस्तीफा देने वाले विधायकों में कैबिनेट मंत्री और हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (HSPDP) के विधायक रेनिक्टन लिंगदोह तोंगखर, तृणमूल कांग्रेस के विधायक शीतलंग पाले, कांग्रेस के निलंबित विधायक मायरालबॉर्न साइम और पीटी सॉकमी और निर्दलीय विधायक लाम्बोर मालनगियांग शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: त्रिपुरा, नगालैंड-मेघालय में विधानसभा चुनाव की तारीखों का आज होगा ऐलान, 2.30 बजे EC की प्रेस कॉन्फ्रेंस

इसके साथ, कांग्रेस और एचएसपीडीपी दोनों के पास आधिकारिक रूप से राज्य में कोई विधायक नहीं बचा है। राजनीतिक दल-बदल और विधायकों के इस्तीफे के बीच, 18 विधायकों ने 11वीं मेघालय विधानसभा के सदस्यों के रूप में इस्तीफा दे दिया है। निर्वाचन आयोग आज त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा करेगा। आयोग ने इस उद्देश्य के लिए यहां अपराह्न ढाई बजे एक संवाददाता सम्मेलन बुलाया है। तीनों विधानसभाओं का कार्यकाल मार्च में अलग-अलग तारीखों पर खत्म हो रहा है। नगालैंड विधानसभा का कार्यकाल 12 मार्च को समाप्त हो रहा है वहीं मेघालय और त्रिपुरा की विधानसभाओं का कार्यकाल 15 और 22 मार्च को समाप्त हो रहा है। 

इसे भी पढ़ें: BJP National Executive Meeting: 2023 में होने वाले सभी विधानसभा चुनाव जीतने के लिए पार्टी ने बनाई रणनीति

बता दें कि तीनों राज्यों की विधानसभाओं में 60-60 सीटें हैं। सूत्रों ने पहले संकेत दिया था कि बोर्ड परीक्षाओं और सुरक्षा बलों की तैनाती को ध्यान में रखते हुए तीनों राज्यों का चुनाव कार्यक्रम तैयार किया जाएगा। पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में इस साल सबसे पहले विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। त्रिपुरा में जहां भाजपा की सरकार है, वहीं नगालैंड में नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी सत्ता में है। मेघालय में नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) की सरकार है। एनपीपी पूर्वोत्तर की एकमात्र पार्टी है जिसे राष्ट्रीय दल के तौर पर मान्यता हासिल है। 

अन्य न्यूज़