कश्मीर के लोगों को शक्तिहीन बना रहा है केंद्र, महबूबा मुफ्ती का बयान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 24, 2021   17:01
कश्मीर के लोगों को शक्तिहीन बना रहा है केंद्र, महबूबा मुफ्ती का बयान

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों को ‘‘शक्तिहीन’’ बना रही है और वह उन पर आतंकवादियों के साथ संबंध होने का संदेह करती है जो कश्मीरियों को ‘‘अपमानित एवं बेदखल’’ करने का नया बहाना है।

श्रीनगर।  पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों को ‘‘शक्तिहीन’’ बना रही है और वह उन पर आतंकवादियों के साथ संबंध होने का संदेह करती है जो कश्मीरियों को ‘‘अपमानित एवं बेदखल’’ करने का नया बहाना है। वह हाल में कथित देश विरोधी गतिविधियों के आरोपों में छह सरकारी कर्मचारियों को सेवा से बर्खास्त किए जाने पर प्रतिक्रिया जता रही थीं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस सरकारों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान, विरासत को तवज्जो नहीं दिया : जितेंद्र सिंह

महबूबा ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘जम्मू-कश्मीर के लोगों को शक्तिहीन बनाने के भारत सरकार के फरमान का अंत नहीं हो रहा है। भारत सरकार दावे करती रही है कि रोजगार पैदा करने के लिए वह निवेश कर रही है जबकि वह इस बात को जानते हुए सरकारी कर्मचारियों को सेवा से हटा रही है कि जम्मू-कश्मीर में आजीविका के लिए लोग सरकारी नौकरियों पर निर्भर हैं।’’

इसे भी पढ़ें: घर गृहस्थी की तुलना में देश की सेवा को अधिक श्रेष्ठ मानते थे दीनदयालजी

उन्होंने कहा कि कश्मीरियों को परेशान किया जाना केंद्र के ‘‘फर्जी दावे की पोल खोल रहा है कि जम्मू-कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आतंकवादियों से संबंध नया बहाना है जिसका इस्तेमाल कश्मीरियों को अपमानित करने में किया जा रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।