अतार्किक है शारदापीठ कारिडोर पर महबूबा मुफ्ती का सुझाव: रवीन्द्र रैना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2018   15:42
अतार्किक है शारदापीठ कारिडोर पर महबूबा मुफ्ती का सुझाव: रवीन्द्र रैना

भाजपा नेता ने कहा कि हम निश्चित तौर पर चाहते हैं कि लोग धार्मिक स्थल शारदापीठ जाएं। इसमें मुजफ्फराबाद स्थित पीठ और मीरपुर स्थित मंदिर भी शामिल है।

नयी दिल्ली। करतारपुर कारिडोर की तरह जम्मू कश्मीर में शरदापीठ कारिडोर बनाने के पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के बयान को भाजपा ने अतार्किक बताया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रवीन्द्र रैना ने कहा कि दोनों स्थितियां अलग-अलग है क्योंकि शारदापीठ पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर में स्थित है जिसे पाकिस्तान को खाली करना है। रैना ने कहा, ‘‘करतारपुर कारिडोर के संदर्भ में भारत और पाकिस्तान ने अपने-अपने क्षेत्र में निर्माण कार्य करने पर सहमति व्यक्त की है। जबकि हिन्दुओं का पवित्र स्थल शारदापीठ पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर में है। ऐसे में दोनों स्थितियां अलग-अलग हैं।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर का हिस्सा तो भारत का ही भाग है।

भाजपा नेता ने कहा कि हम निश्चित तौर पर चाहते हैं कि लोग धार्मिक स्थल शारदापीठ जाएं। इसमें मुजफ्फराबाद स्थित पीठ और मीरपुर स्थित मंदिर भी शामिल है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अपने अवैध कब्जे वाले जम्मू कश्मीर के हिस्से को खाली करना है और मुद्दा यही है। रैना ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से जम्मू कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने, खून खराबा करने और बंदूक एवं गोला बारूद पहुंचाने का कृत्य लगातार किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे में हमें केवल रास्ते ही नहीं खोलने हैं बल्कि पीओके भी लेना है।’’

 

यह भी पढ़ें: कश्मीर मुद्दे के हल के लिये करतारपुर जैसी पहल की जरूरत: महबूबा मुफ्ती

जम्मू कश्मीर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला, गुलाम नबी आजाद जैसे नेताओं को इस बात पर जोर देना चाहिए कि पाकिस्तान अपने कब्जे वाले जम्मू कश्मीर के हिस्से को खाली करे। जम्मू कश्मीर में विधानसभा भंग होने की पृष्ठभूमि में अपनी पार्टी की तैयारियों का जिक्र करते हुए रैना ने कहा कि हाल ही में शहरी नगर निकायों के चुनाव में भाजपा को अच्छी जीत हासिल हुई है और आने वाले दिनों में विधानसभा समेत अन्य चुनाव में पार्टी जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ जम्मू कश्मीर में अगला मुख्यमंत्री भाजपा का होगा।’’ 

भाजपा नेता ने कहा कि जनता समझ चुकी है कि अगर उन्हें इंसाफ और हक चाहिए तो भाजपा को लाना होगा। उल्लेखनीय है कि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को कहा था कि खून-खराबे से कश्मीर में मरघट जैसी खामोशी कायम करने की साजिशों के बजाय करतारपुर कॉरिडोर जैसे कदम उठाकर कश्मीर मसले को हमेशा के लिए हल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में महागठबंधन के विचार ने भाजपा को बेचैन किया: महबूबा मुफ्ती

उन्होंने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर की तरह एलओसी पार स्थित शारदापीठ में हिंदू श्रद्धालुओं के आवागमन को आसान बनाने के लिए शारदापीठ कॉरिडोर बनाया जाना चाहिए। कश्मीरी पंडितों के लिए शारदापीठ धार्मिक और सांस्कृतिक रूप से बेहद अहम है। उल्लेखनीय है कि शारदापीठ देवी सरस्वती का प्राचीन मन्दिर है जो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में शारदा के निकट किशनगंगा नदी (नीलम नदी) के किनारे स्थित है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।