इस तारीख से शुरू हो सकती है मेट्रो सेवा, बदल जाएंगी ये सभी चीजें

इस तारीख से शुरू हो सकती है मेट्रो सेवा, बदल जाएंगी ये सभी चीजें

सीआईएसएफ सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कई बड़े प्रमुख मेट्रो स्टेशन में लोगों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी वहीं छोटे स्टेशनों पर मैनुअल स्कैनिंग की सुविधा उपलब्ध होगी। सभी यात्रियों को आरोग्य सेतू ऐप डाउनलोड करना होगा साथ ही उसका अपडेट स्टेटस भी दिखाना जरूरी होगा।

जल्द ही मेट्रो सेवा का परिचालन दोबारा शुरू हो सकता है। सोमवार को ग्रह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से ये खबर आई है कि 1 सितंबर 2020 से मेट्रो से वा का परिचालन दोबारा किया जा सकता है। बता दें कि इसके लिए गाइडलाइंस को अंतिम रूप देने का काम भी शुरू हो गया है। जानकारी के मुताबिक, कोरोना महमारी के बीच जब मेट्रो का परिचालन दोबारा होगा तब लोगों को कई नियमों का पालन भी करना होगा। सीआईएसएफ सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कई बड़े प्रमुख मेट्रो स्टेशन में लोगों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी वहीं छोटे स्टेशनों पर मैनुअल स्कैनिंग की सुविधा उपलब्ध होगी। सभी यात्रियों को आरोग्य सेतू ऐप डाउनलोड करना होगा साथ ही उसका अपडेट स्टेटस भी दिखाना जरूरी होगा। वहीं जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं होगा उसकी थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। इसके अलावा हर स्टेशन पर हैंड सैनिटाइजर भी उपलब्ध होगा। 

इसे भी पढ़ें: NIA ने पुलवामा आतंकी हमला मामले में 13,500 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की, मसूद अजहर समेत 20 का नाम

दूर से होगी अब यात्रियों की चैंकिग

बता दें कि मेट्रो में पहले जैसी चैंकिग नहीं की जाएगी बल्कि अब दूर से ही चेंकिग और फ्रिस्किंग की जाएगी। वहीं अब मेट्रो में भी ऐयरपोर्ट जैसी व्यव्सथा होगी यानि की अब यात्रियों को जेब में रखे सभी सामान एक बैग में डालना होगा जिसे मशीन स्कैन करेगी। वहीं जिनके पास बैग नहीं हुआ, तो उन्हें अब ऐयरपोर्ट की तरह एक ट्रे दिया जाएगा जिससे वह अपने सामान की चेंकिग आसानी से करवा पाएंगे। इसके अलावा, एक व्यक्ति को अपने साथ केवल एक बड़ा बैग या एक लैपटॉप या छोटा हैंडबैग ले जाने की इजाजत होगी। कोरोना के नियमों का पालन करते हुए यात्रियों को सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन भी करना होगा। इसके लिए एक-एक यात्रियों को चैंकिग के लिए अंदर आने की इजाजत होगी। बिना मास्क वालों को मेट्रो में एंट्री नहीं दी जाएगी। वहीं मेट्रो के आसपास की जगहों को छूने की भी इजाजत नहीं होगी। वहीं अब लिफ्ट का इस्तेमाल केवल बुजुर्ग और विकलांग ही कर सकेंगे। आपको बता दें कि कोरोना महामारी के बीच अगर मेट्रो शुरू होती है तो मेट्रो में चेंकिग से लेकर स्कैनिंग तक काफी वक्त लग सकता है। ट्रेनों में सिमित संख्या में ही लोग चढ़ सकेंगे, ऐसे में यात्रियों को अपने घर से आधे घंटे पहले निकलने की भी सलाह मेट्रो देगी। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।