मिजोरम में एचआईवी-एड्स के मामलों का प्रतिशत देश में सर्वाधिक: अधिकारी

AIDS
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
‘मिजोरम स्टेट एड्स कंट्रोल सोसाइटी’ (एमएसएसीएस) की परियोजना निदेशक डॉ लालथलेंगलियानी ने हाल के एक सर्वेक्षण का हवाला देते हुए कहा कि राज्य में एचआईवी-एड्स की घटनाओं का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से 10 गुना अधिक है।

आइजोल, 24 अगस्त।  मिजोरम में एचआईवी-एड्स के मामलों का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से दस गुना अधिक है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मिजोरम देश में एचआईवी-एड्स के सर्वाधिक मामलों वाला राज्य बन गया है,जहां 10.91 लाख की इसकी कुल आबादी के 2.30प्रतिशत लोग संक्रमित है। राज्य में अक्टूबर 1990 में एचआईवी का पहला मामला सामने आया था और तब से अब तक कुल 3,506 लोग इससे जान गवां चुके हैं।

‘मिजोरम स्टेट एड्स कंट्रोल सोसाइटी’ (एमएसएसीएस) की परियोजना निदेशक डॉ लालथलेंगलियानी ने हाल के एक सर्वेक्षण का हवाला देते हुए कहा कि राज्य में एचआईवी-एड्स की घटनाओं का प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से 10 गुना अधिक है। उन्होंने कहा कि अनेक प्रयासों के बावजूद वार्षिक घटना दर कम नहीं हुई। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. आर. लालथंगलियाना की अध्यक्षता में मंगलवार को एक बैठक में वर्तमान परिदृश्य की समीक्षा की गई और इस पर भी विचार विमर्श किया गया कि राज्य में इसे रोकने संबंधी कार्यक्रम में तेजी कैसे लाई जाए।

इस दौरान अपने संबोधन में स्वास्थ्य मंत्री ने इस समस्या से निटने के लिए लोगों और संबंद्ध विभागों से मिलकर काम करने की अपील की। उन्होंने कहा,‘‘जैसा हमने कोविड-19 महामारी के लिए किया वैसा ही प्रयास अगर एचआईवी-एड्स के खतरे से निपटने के लिए लोग,गिरजाघर,एनजीओ और मीडिया मिल कर करें तो हम बड़ी आपदा को रोक सकते हैं।’’ उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों के मुकाबले मिजोरम में हालात चिंताजनक हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़