मोदी सरकार ने आम लोगों की घरेलू बचत पर ब्याज में कटौती कर दी: खेड़ा

modi-government-cuts-interest-on-household-savings-of-common-people-khera
खेड़ा ने दावा किया, संप्रग सरकार के समय एक साल की जमा पर 8.4 फीसदी का ब्याज था जो अब घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया गया है। इसी तरह पीपीएफ पर 8.7 फीसदी ब्याज मिलता था जो अब 7.9 फीसदी हो गया है। आम लोगों की दूसरी बचत में भी कटौती की की गई है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने शनिवार को आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने दूसरा कार्यभार संभालने के साथ ही पीपीएफ और आम लोगों की दूसरी घरेलू बचत पर ब्याज घटा कर चपत लगाने का काम किया है। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने सरकार से ब्याज में कटौती वापस लेने की मांग करते हुए यह भी कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे को संसद में भी उठाएगी। उन्होंनेसंवाददाताओं से कहा,  जनता ने भाजपा को लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत दिलाई, लेकिन उसने दोबारा सत्ता में आते ही आम लोगों की घरेलू बचत पर ब्याज में कटौती कर दी। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका ने योगी पर साधा निशाना, बोलीं- क्या अपराधियों के सामने कर दिया है समर्पण

खेड़ा ने दावा किया,  संप्रग सरकार के समय एक साल की जमा पर 8.4 फीसदी का ब्याज था जो अब घटाकर 6.9 फीसदी कर दिया गया है। इसी तरह पीपीएफ पर 8.7 फीसदी ब्याज मिलता था जो अब 7.9 फीसदी हो गया है। आम लोगों की दूसरी बचत में भी कटौती की की गई है। उन्होंने कहा,  हम पूछना चाहते हैं कि अपने आम आदमी की बचत पर चपत क्यों लगाई है? उन्होंने कहा,  हमारी मांग है कि आम लोगों की बचत पर सरकार ने जो चपत लगाई है उसे वापस ले। हम इस मुद्दे को संसद में भी उठाएंगे। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़