• इस फेमस यूट्यूबर के भारत आने पर मोदी सरकार ने क्यों लगाया बैन, पत्नी पहुंची हाई कोर्ट

अभिनय आकाश Jul 12, 2021 21:36

फेमस यूट्यूबर कार्ल रॉक ने आरोप लगाया कि भारत सरकार ने उन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया है। कार्ल रॉक की पत्नी मनीषा मलिक ने भारत में एंट्री बैन के मामले को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी है।

मूल रूप से न्यूजीलैंड के रहने वाले यूट्यूबर कार्ल रॉक की भारत में एंट्री बैन किए जाने का मुद्दा इन दिनों सोशल मीडिया से होता हुआ अदालती दरवाजे तक जा पहुंचा है। यूट्यूबर की पत्नी ने दिल्ली हाई कोर्ट का रुख कर कार्ल को ब्लैक लिस्ट किए जाने और भारत में एंट्री बैन के मामले को चुनौती दी है। याचिकाकर्ता ने कहा कि उनके पति को वीजा न देने और मनमाने ढंग से उन्हें ब्लैक लिस्ट किए जाने की वजह से वह उनके साथ रहने से वंचित हैं, जो जीवन एवं गरिमा के उनके मौलिक अधिकार का उल्लंघन है, जो संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत संरक्षित है।

क्या है पूरा मामला

कार्ल रॉक एक मशहूर यूट्यूबर पिछले कुछ समय से भारत में रह रहे थे। यहीं कार्ल ने भारतीय नागरिक मनीषा से शादी की। कार्ल मुख्य रुप से कंटेंट क्रियेटर हैं। कार्ल का एक यूट्यूब चैनल है कार्ल रॉक जिसपर करीब 18 लाख सब्सक्राइबर हैं। कार्ल ने कई सारे वीडियो बनाएं। जिसमें रोड सेफ्टी का बड़ा मुद्दा था। जो भारत घूमना चाहते हैं उन विदेशी लोगों के लिए भी कार्ल ने वीडियो बनाएं। कार्ल ने भारत में फर्जी आईटी कंपनियां और कॉल सेंटर चलाने वालों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी। अपनी पत्नी के साथ भारत में रहने वाले कार्ल कुछ महीनों के लिए दुबई और पाकिस्तान गए। लेकिन उसके बाद जब उन्होंने भारत वापसी का वीजा अप्लाई किया तो इंडियन हाई कमीशन ने बताया कि कार्ल को भारत में ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है और अब वो भारत कभी नहीं आ पाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी का ट्वीट- हिमाचल में भारी बारिश से उपजी स्थिति पर केंद्र की कड़ी नजर, पहुंचाई जा रही है हरसंभव मदद

पत्नी ने लगाई हाई कोर्ट में अर्जी

दिल्ली हाई कोर्ट का रुख करते हुए कार्ल रॉक की पत्नी मनीषा मलिक ने अपनी याचिका में कहा है कि वो और उनके पति जो कार्ल रॉक के तौर पर लोकप्रिय हैं, दोनों ही यूट्यूब व्लॉगर हैं और भारत की खूबसूरती को कैद करने के लिए उसके ज्यादातर हिस्सों में गए हैं तथा यहां पर्यटन को बढ़ावा देने में उनका योगदान रहा है। याचिका पर अगले हफ्ते सुनवाई हो सकती है।  

पर्यटक वीजा पर कारोबारी गतिविधि की वजह से हुए ब्लैक लिस्ट

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार एमएचए अधिकारी की तरफ से कहा गया है कि न्यूजीलैंड के नागरिक कार्ल को उनके वीजा की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए अगले साल तक भारत में प्रवेश से प्रतिबंधित किया गया है। वह पर्यटक वीजा पर कारोबारी गतिविधि कर रहे थे और वीजा की अन्य शर्तों का भी उन्होंने उल्लंघन किया।