रामगोपाल यादव का मोदी सरकार पर गंभीर आरोप, कहा- वोट के लिए मार दिए CRPF जवान

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 22 2019 9:12AM
रामगोपाल यादव का मोदी सरकार पर गंभीर आरोप, कहा- वोट के लिए मार दिए CRPF जवान
Image Source: Google

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने होली के मौके पर इटावा में आयोजित कार्यक्रम में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि वोट बढ़ाने के लिए सीआरपीएफ के जवानों को मार दिया गया।

इटावा। समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने पुलवामा हमले को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर बेहद गंभीर आरोप लगाते हुए गुरुवार को कहा कि वोट के लिए सीआरपीएफ के 40 जवानों को शहीद कर दिया गया। केंद्र में सरकार बदलने के बाद जब इसकी जांच होगी तब बड़े-बड़े लोग फंसेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यादव के इस बयान को गैरजिम्मेदाराना करार दिया है। यादव ने होली के मौके पर इटावा में आयोजित कार्यक्रम में पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि वोट बढ़ाने के लिए सीआरपीएफ के जवानों को मार दिया गया। उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों के लोगों ने शिकायत की है कि हम मांग करते रहे कि हमें हवाई जहाज से भेजा जाए मगर ऐसा नहीं किया गया।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी मायावती, कहा- गठबंधन को जीताना पहली जिम्मेदारी

सपा नेता ने कहा कि आमतौर पर हमारे जवान हवाई जहाज से जम्मू तक जाते हैं उसके बाद बख्तरबंद गाड़ियों से आगे बढ़ते हैं। यादव ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ जब कोई चेकिंग नहीं थी। पहली बार ऐसा हुआ जब सीआरपीएफ के जवानों को सामान्य बसों में भेजा गया और वे मारे गए। उन्होंने कहा कि यह साजिश थी। जब सरकार बदलेगी और उसकी जांच होगी तो आप देखना कि बड़े-बड़े लोग इसमें फंसेंगे। हमारे नौजवानों की जानें दिलवा दी, वोट पाने के लिए। यादव ने कहा कि आपने देखा होगा कि सैनिकों की लाश आ रही थी और भाजपा के नेता हंस रहे थे। हमारे पास तो एक वीडियो ऐसा है जिसमें मुख्यमंत्री और उनके पास बैठे लोग हंस रहे थे। यह लोग मारीच हैं। यह कब अपना रूप बदल लें कुछ नहीं कहा जा सकता।

इसे भी पढ़ें: नेताजी का कायम किया रिश्ता ठीक करने के लिये बसपा से गठबंधन: अखिलेश



इस बीच, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामगोपाल के इस बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि सपा नेता कि वह टिप्पणी तुष्टिकरण की पराकाष्ठा है। इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयान देश के बहादुर जवानों के विश्वास को डगमगाने की साजिश है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video