सत्ता में आने के लिए हिटलर की युक्तियां अपना रहे हैं मोदी: केजरीवाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 24, 2019   10:34
सत्ता में आने के लिए हिटलर की युक्तियां अपना रहे हैं मोदी: केजरीवाल

केजरीवाल ने हरियाणा के गुड़गांव में एक मुस्लिम परिवार के सदस्यों की कुछ लोगों द्वारा निर्मम पिटाई की वीडियो को रि-ट्वीट करते हुए मोदी पर तीखा हमला बोला।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वह ‘‘सत्ता में आने के लिए जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर की युक्तियां अपना रहे हैं।’’ केजरीवाल ने हरियाणा के गुड़गांव में एक मुस्लिम परिवार के सदस्यों की कुछ लोगों द्वारा निर्मम पिटाई की वीडियो को रि-ट्वीट करते हुए मोदी पर तीखा हमला बोला। 

केजरीवाल ने कई ट्वीट में कहा, ‘‘ हिटलर के गुंडे मासूम लोगों को पीटा और मारा करते थे। इसके बाद, पुलिस पीड़ितों के खिलाफ मामला दर्ज किया करती थी। मोदी जी भी यही कर रहे हैं। वह सत्ता में आने के लिए हिटलर की युक्तियां अपना रहे हैं और उनके समर्थक यह भी नहीं देख पा रहे हैं कि भारत किस दिशा में जा रहा है।’’ मुख्यमंत्री ने वीडियो को रि-ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘ इस वीडियो को देखिए। कौन से पवित्र शास्त्र में लिखा है कि कोई मुस्लिमों को पीटे। क्या गीता में लिखा है? क्या रामायण में लिखा है? क्या हनुमान चालीसा में लिखा है? यह हिंदू नहीं उनके भेस में गुंडे हैं?’’

इसे भी पढ़ें: सुब्रमण्यम स्वामी का दावा, अर्थशास्त्र नहीं जानते PM मोदी और जेटली

गौरतलब है कि गुरुग्राम में भोंडसी के भूपसिंह नगर इलाके में मुस्लिम परिवार के कुछ बच्चे होली के दिन घर के बाहर क्रिकेट खेल रहे थे। इस मामले को लेकर वहां कुछ विवाद हुआ। इसके बाद कुछ लोगों ने एक मुस्लिम परिवार के घर पर पथराव किया और परिवार के सदस्यों से मारपीट भी की। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। मामले में हत्या के प्रयास के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।