मोदी ने जगजीवन राम को भूलने को लेकर कांग्रेस पर किया प्रहार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर परोक्ष हमला करते हुए कहा है कि इसने दलित नेता जगजीवन राम को भुला दिया, जिन्होंने देश के लिए कड़ी मेहनत की थी।

नोएडा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर परोक्ष हमला करते हुए कहा है कि इसने दलित नेता जगजीवन राम को भुला दिया, जिन्होंने देश के लिए कड़ी मेहनत की थी। मोदी ने मंगलवार को वित्तीय समावेश को बढ़ावा देने के लिए ‘स्टैंड अप इंडिया’ पहल का शुभारंभ करते हुए कहा, ‘‘बाबू जगजीवन राम की जयंती के अवसर पर पिछली सरकारों ने शायद कोई कार्यक्रम शुरू नहीं किया था। कम से कम मुझे तो ऐसा अवसर याद नहीं आता। मुझे गर्व है कि आज के कार्यक्रम का कुछ संबंध उनकी जयंती से है।’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार का विचार है कि राजनीतिक झुकाव के बावजूद इस देश के लिए काम करने वाले सभी लोग सम्मान किए जाने योग्य हैं क्योंकि वे हमारे लिए प्रेरणा स्रोत हैं। मोदी ने कहा कि जगजीवन राम की जयंती ‘समता दिवस’ के रूप में मनाई जाती है। उन्होंने कहा कि दलित नेता हरित क्रांति के समय कृषि मंत्री थे और 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान रक्षा मंत्री थे। उन्होंने कहा, ‘‘बाबू जगजीवन राम की एक खूबी यह थी कि वह योग्यता को वरीयता दिया करते थे। यहां तक कि छात्रवृत्ति के लिए भी उन्होंने मेरिट का समर्थन किया। वह ऐसी किसी भी चीज को खारिज कर देते थे जो योग्यता पर आधारित नहीं होती थी।’’

इससे पहले दिन में मोदी ने बाबू जगजीवन राम को उनकी 109 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘उनकी जयंती पर, उस व्यक्ति को श्रद्धांजलि जिन्होंने अपना जीवन गरीबों और हाशिए पर मौजूद लोगों के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया, बाबू जगजीवन राम।’’ जगजीवन राम 35 साल तक कैबिनेट मंत्री रहे और कई पदों पर आसीन रहें।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़