मोदी बंगाल में भाजपा की रथ यात्रा रैलियों में शामिल हो सकते हैं: दिलीप घोष

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2018   19:48
मोदी बंगाल में भाजपा की रथ यात्रा रैलियों में शामिल हो सकते हैं: दिलीप घोष

रथ यात्रा पश्चिम बंगाल की सभी 42 लोकसभा सीटों से गुजरेगी, जहां भाजपा ने 22 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य तय किया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का इन तीनों रैलियों में शिरकत का कार्यक्रम है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य में ‘रथ यात्रा’ अभियान के दौरान चार रैलियों में शिरकत कर सकते हैं। राज्य में भाजपा की ‘रथ यात्रा’ रैलियां सात दिसंबर से उत्तर में कूचबिहार जिले से, नौ दिसंबर को दक्षिण में गंगासागर से और 14 दिसंबर को बीरभूम जिले के तारापीठ मंदिर से शुरू होनी हैं।

रथ यात्रा पश्चिम बंगाल की सभी 42 लोकसभा सीटों से गुजरेगी, जहां भाजपा ने 22 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य तय किया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का इन तीनों रैलियों में शिरकत का कार्यक्रम है। घोष ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य में हमारी रथ यात्रा के दौरान चार रैलियों में हिस्सा ले सकते हैं। हमने पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व और प्रधानमंत्री कार्यालय को सूचित कर दिया है। अंतिम तारीखों को अभी तय करना है।’’

उन्होंने कहा कि मोदी के जिन चार रैलियों में हिस्सा लेने की उम्मीद है, उनमें ब्रिगेड परेड मैदान में प्रस्तावित रैली शामिल है जो तीनों रथ यात्राओं के समापन पर होगी। घोष के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वित्त मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि भाजपा और आरएसएस की ‘विभाजनकारी राजनीति’ से बंगाल में कोई राजनीतिक फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि बंगाल में धर्मनिरपेक्षता का लंबा इतिहास है और मज़हब के आधार पर राज्य के ‘‘‘लोगों को बांटने की भाजपा की कोशिश’’ यहां काम नहीं करेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।