ऊर्जा क्षेत्र के अधिकारियों के साथ सफल रही मोदी की बैठक: विदेश मंत्रालय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 22, 2019   11:17
ऊर्जा क्षेत्र के अधिकारियों के साथ सफल रही मोदी की बैठक: विदेश मंत्रालय

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘आते ही सीधे काम शुरू। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ह्यूस्टन में ऊर्जा क्षेत्र के सीईओ के साथ अभी एक सफल गोलमेज बैठक सम्पन्न की।

ह्यूस्टन। अमेरिका की एक सप्ताह की यात्रा के पहले दिन शनिवार को यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ऊर्जा क्षेत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ हुई बैठक कामयाब रही। विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी। मंत्रालय ने बताया कि यह बैठक ऊर्जा सुरक्षा के लिए साथ मिल कर काम करने और भारत-अमेरिका के बीच साझा निवेश के अवसरों को बढ़ाने पर केन्द्रित थी।

इसे भी पढ़ें: 2 सप्ताह में दूसरी बार पाक ने नहीं दी एयरस्पेस की अनुमति, रवीश कुमार ने की पाक की निंदा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘आते ही सीधे काम शुरू। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ह्यूस्टन में ऊर्जा क्षेत्र के सीईओ के साथ अभी एक सफल गोलमेज बैठक सम्पन्न की। बातचीत भारत और अमेरिका के बीच ऊर्जा सुरक्षा के लिए साथ मिल कर काम करने और साझा निवेश के अवसरों को बढ़ाने पर केन्द्रित थी।’’ इससे पहले प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने अमेरिका के कई शीर्ष तेल कम्पनियों के सीईओ के साथ मोदी की तस्वीरें ट्वीटर पर साझा की थीं।

पीएमओ ने साथ ही लिखा, ‘‘भारत और अमेरिका की दोस्ती को और मजबूत करते हुए। ह्यूस्टन में पहली बैठकों में से एक... प्रधानमंत्री ऊर्जा क्षेत्र के सीईओ के साथ। भारत और अमेरिका इस क्षेत्र में सहयोग में विविधता लाना चाहता है।’’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यहां ‘एनआरजी फुटबॉल स्टेडियम’ में रविवार को ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करने वाले हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी इस समारोह में शिरकत करेंगे। पोप के अलावा अन्य किसी विदेशी नेता के लिए यहां आयोजित किया जा रहा यह सबसे बड़ा कार्यक्रम है।

इसे भी पढ़ें: चीन ने पाक को दिया बड़ा झटका, कहा- मोदी-चिनफिंग की मुलाकात में नहीं होगी कश्मीर पर बात 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।