मायावती को मोदी का जवाब, कहा- देश के गरीबों की जो जाति है वह मेरी जाति है

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 11 2019 3:57PM
मायावती को मोदी का जवाब, कहा- देश के गरीबों की जो जाति है वह मेरी जाति है
Image Source: Google

मोदी ने कहा कि जब जनता जाग जाती है, जब वो इस अहंकार को पहचान जाती है तो "हुआ तो हुआ" कहने वालों को “हवा हो जावो”-“हवा हो जाओ” कहने की हिम्मत जनता में होती है।

उत्तर प्रदेश में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिपक्ष पर जमकर निशाना साधा। मायावती द्वारा मोदी की जाति पर उठाए गए सवाल का जवाब देते प्रधांनमत्री ने कहा कि कान खोलकर सुन लो, मोदी की एक ही जाति है। इस देश के गरीबों की जो जाति है वह मेरी जाति है। सपा-बसपा गठबंधन पर प्रहार करते हुए मोदजी ने कहा कि जब भी देश में महामिलावटी सरकार होती है तो वो राष्ट्रीय सुरक्षा को भी खतरे में डाल देती है। याद कीजिए जब तीसरे मोर्चे की महामिलावटी सरकार थी, समाजवादी पार्टी मंत्रिमंडल में थी, तब इन्होंने देश का क्या हाल कर दिया था। सपा और बसपा के नेता ये नहीं बताते कि राष्ट्र के लिए उनकी नीति क्या है। वो जो भी बात करते हैं, उसमें सबसे ऊपर होती है, मोदी को गाली देनामोदी ने कहा कि इन महामिलावटी सरकार ने हमारे पूरे खूफिया तंत्र को दीमक लगा दिया था, खोखला कर दिया था, बर्बाद कर दिया था। इसका खामियाजा देश को लंबे समय तक भुगतना पड़ा था।

भाजपा को जिताए

 
सैम पित्रोदा पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश घोटालों से घिर गया। देश का नाम दुनिया भर में बदनाम हुआ, लेकिन वो कहते रहे- 'हुआ तो हुआ'। सत्ता के गलियारों पर दलालों ने कब्जा कर लिया, रिमोट कंट्रोल से सरकार चलाने वाले देश को आगे बढ़ाने के लिए बड़े फैसले नहीं ले पाए और कहते रहे- हुआ तो हुआ। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश के लोगों के साथ विश्वासघात किया, देश की उम्मीदों को तोड़ा और ताल ठोक कर कहते रहे "हुआ तो हुआ"। जब राष्ट्रहित के बजाय, सिर्फ अपने परिवार का हित सर्वोपरि होता है, तो यही अहंकार, यही घमंड बोलता है "हुआ तो हुआ"।


मोदी ने कहा कि जब जनता जाग जाती है, जब वो इस अहंकार को पहचान जाती है तो "हुआ तो हुआ" कहने वालों को “हवा हो जावो”-“हवा हो जाओ” कहने की हिम्मत जनता में होती है। सपा-बसपा, जिन्होंने पहले यूपी को बर्बाद किया वो अब खुद को बर्बादी से बचाने के लिए गले मिल रहे हैं। जो पहले एक दूसरे को जेल भेजना चाहते थे वो आज उन्हें महल में भेजना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि देश को मजबूत बनाने का उनका तरीका क्या होगा, आतंकवाद से वो कैसे निपटेंगे, नामदार हों, बहन जी हों या बबुआ जी, वो आपको इस बारे में कुछ नहीं बोलेंगे। अब ये भी शुरु किया है कि मोदी की क्या जाति है। इस देश के गरीबों की जो जाति है, वो मेरी जाति है।
देश के गरीबों की जो जाति है वही मेरी भी: मोदी
 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी जाति को लेकर विपक्ष द्वारा लगाये जा रहे आरोपों का जवाब देते हुए शनिवार को कहा कि देश के गरीबों की जो जाति है वही मेरी जाति है। मोदी ने यहां एक चुनावी सभा में विपक्षी दलों की आलोचना करते हुए कहा,  अभी शुरू किया है कि मोदी की जाति कौन सी है। कान खोलकर सुन लो, मोदी की एक ही जाति है। इस देश के गरीबों की जो जाति है वही मेरी जाति है।’’ उन्होंने कहा  जो भी खुद को गरीब मानता है मैं उसकी जाति का हूं। इसलिये जो सामान्य समाज है, जिनके गरीब बच्चों को कोई पूछने वाला नहीं था, लेकिन मेरी जाति गरीब की है, इसलिये उन गरीबों के लिये 10 प्रतिशत आरक्षण भी मैंने ही दिया। जिस गरीब के पास घर नहीं था, उसे घर दे दिया, क्योंकि मेरी जाति गरीब की है। मालूम हो कि विपक्ष खासकर बसपा प्रमुख मायावती ने मोदी पर राजनीतिक लाभ लेने के लिये अपनी जाति को जबरन पिछड़ी श्रेणी में शामिल कराने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कहा था कि अगर मोदी वाकई पिछड़ी जाति के होते तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उन्हें कभी प्रधानमंत्री नहीं बनने देता। मोदी ने आरोप लगाया कि महामिलावटी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को भी खतरे में डाल देती है।  याद कीजिये जब तीसरे मोर्चे की महामिलावटी सरकार थी, यही सपा मंत्रिमण्डल में शामिल थी, और इन्होंने देश का क्या हाल कर दिया था। हमारे खुफिया और सुरक्षा तंत्र से जुड़े कई लोगों ने इस बारे में बहुत कुछ लिखा है। आप पढ़ेंगे तो रोंगटे खड़े हो जाएंगे।  
 
उन्होंने कहा कि  लिखने वाले लोगों ने बताया कि किस तरह महामिलावटी सरकार ने हमारे खुफिया तंत्र को खोखला कर दिया था। इसका खामियाजा पूरे देश को लम्बे समय तक भुगतना पड़ा था। तीसरे मोर्चे की सरकार ने उस वक्त जो कुछ किया वह किसी बड़े अपराध से जरा भी कम नहीं था। वह तो वाजपेयी जी की सरकार आयी। उन्होंने कदम उठाये और देश को बचा लिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन दुर्भाग्य से अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार जाने के बाद देश ने फिर ऐसी कमजोर और रिमोट कंट्रोल वाली सरकार देखी, जिसने देश की साख को ही दांव पर लगा दिया। इतना भ्रष्टाचार, लाखों करोड़ों के घोटाले, हर तरफ त्राहि—त्राहि मची थी। लेकिन कांग्रेस और उसके साथियों को इसका जरा भी मलाल नहीं है। उनके सोचने का ही तरीका है हुआ तो हुआ। उन्होंने कहा, जब जनता जाग जाती है, तो हुआ तो हुआ कहने वालों को हवा हो जाओ, हवा हो जाओ कह देती है। कल छठे चरण का मतदान है। भारी मात्रा में मतदान कीजिये और यह जो अहंकार है, उसे बटन दबाकर चूर—चूर कर दीजिये। 
 
मोदी ने कहा कि कमजोर सरकारों के रहते कभी देश शक्तिशाली नहीं बन सकता है। जितनी ज्यादा मजबूत सरकार, उतना ही ज्यादा शक्तिशाली देश होगा। आपका एक वोट भारत में एक शक्तिशाली सरकार का गठन करेगा। 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन यानी 11 मई इस बात का जीता—जागता सुबूत है, जब 21 साल पहले आज ही के दिन भारत ने परमाणु परीक्षण किया था। मैं उन सभी वैज्ञानिकों को नमन करता हूं, जिन्होंने अपनी मेहनत से देश को गौरव दिलाया था। वाजपेयी सरकार से पूर्व की सरकारों में वह हिम्मत नहीं थी कि वह ऐसा फैसला ले सके। उन्होंने सपा—बसपा गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि जिन्होंने उत्तर प्रदेश को बरबाद किया, वे अब खुद को बरबादी से बचाने के लिये गले मिल रहे हैं। सपा—बसपा के नेता यह नहीं बताते कि राष्ट्र के लिये उनकी नीति क्या है। वह छोटी बात करते हैं, उसमें सबसे ऊपर होता है मोदी को गाली देना। मोदी ने कहा कि यह नया भारत है। यह भारत अब आतंकियों के घर में घुसकर मारता है। गुजरे पांच वर्षों में नक्सलवाद को भी हमने देश के एक बहुत छोटे हिस्से तक सीमित कर दिया है। उन्होंने कहा कि अनपरा और ओबरा में बिजली उत्पादन होने के बावजूद बिजली देने में सोनभद्र के साथ भेदभाव किया जाता था। हमारी सरकार ने इस स्थिति को बदलने का प्रयास किया है।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video