धनशोधन मामले में ED के सामने पेश नहीं हुईं महबूबा, वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पूछताछ को देंगी तरजीह

Mehbooba Mufti
पीडीपी नेता ने कहा कि मैं 22 मार्च के लिए जारी समन का पालन करने की स्थिति में नहीं हूं, क्योंकि मेरी पूर्व निर्धारित प्रतिबद्धताएं हैं, जिन्हें इतनी कम अवधि के नोटिस पर रद्द नहीं किया जा सकता।

नयी दिल्ली। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती धनशोधन एक मामले में यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के मुख्यालय में पेश नहीं हुई। उन्होंने कहा कि उनकी पूर्व निर्धारित प्रतिबद्धताएं थीं, जिन्हें रद्द नहीं किया जा सकता था। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वह श्रीनगर में पूछताछ किए जाने के लिए तैयार हैं और वह अपने आवास या वीडियो कांफ्रेंस के जरिए पूछताछ को तरजीह देंगी। 

इसे भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान में मेल-मिलाप की प्रक्रिया कश्मीर से शुरू होनी चाहिए: महबूबा मुफ्ती 

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद लगभग एक साल तक हिरासत में रखे जाने के बाद पिछले साल रिहा की गई 61 वर्षीय मुफ्ती को राष्ट्रीय राजधानी स्थित ईडी मुख्यालय में पेश होने का नोटिस जारी किया गया था। ईडी ने इससे पहले मुफ्ती को 15 मार्च को पेश होने के लिये समन जारी किया था। पीडीपी नेता ने कहा कि मैं 22 मार्च के लिए जारी समन का पालन करने की स्थिति में नहीं हूं, क्योंकि मेरी पूर्व निर्धारित प्रतिबद्धताएं हैं, जिन्हें इतनी कम अवधि के नोटिस पर रद्द नहीं किया जा सकता।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़