राजस्थान में ढाई महीने के बाद सोमवार से फिर खुल जाएंगे स्मारक व संग्रहालय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 30, 2020   15:41
राजस्थान में ढाई महीने के बाद सोमवार से फिर खुल जाएंगे स्मारक व संग्रहालय

राज्य के पुरातत्व व संग्रहालय विभाग के निदेशक प्रकाश चंद्र शर्मा के अनुसार पहले दो सप्ताह में सभी स्मारक व संग्रहालय हफ्ते में चार दिन पुननिर्धारित समय के लिए खुलेंगे जबकि बाद में इन्हें नियत समयानुसार कर दिया जाएगा।

जयपुर। राजस्थान में ऐतिहासिक स्मारक व संग्रहालय लॉकडाउन के लगभग ढाई महीने के बाद सोमवार से फिर खुल जाएंगे। पहले दो सप्ताह पर्यटकों के लिए प्रवेश निशुल्क रहेगा। सरकार ने इस बारे में आदेश जारी कर दिया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने के प्रयासों के तहत राज्य सरकार ने सभी संग्रहालयों व स्मारकों में पर्यटकों के प्रवेश पर 18 मार्च से रोक लगा दी थी। अब इसे हटाने का फैसला किया गया है। राज्य के पुरातत्व व संग्रहालय विभाग ने इस बारे में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की है। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण से एक और मौत, 49 नये मामले 

विभाग के निदेशक प्रकाश चंद्र शर्मा के अनुसार पहले दो सप्ताह में सभी स्मारक व संग्रहालय हफ्ते में चार दिन पुननिर्धारित समय के लिए खुलेंगे जबकि बाद में इन्हें नियत समयानुसार कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक जून से शुरू होने वाले पहले सप्ताह में ये स्मारक व संग्रहालय चार दिन मंगलवार, बृहस्पतिवार, शनिवार व रविवार को सुबह नौ से दो बजे तक खुलेंगे। वहीं अगले एक सप्ताह ये इन्हीं चार दिन को सुबह नौ से दोपहर एक बजे व सायं तीन से पांच बजे तक खुलेंगे। जिन स्मारकों के प्रवेश शुल्क लगता है वहां इन दिनों घरेलु और विदेशी पर्यटकों के लिए प्रवेश नि:शुल्क होगा। 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा रात्रिकालीन कर्फ्यू 

विभाग के मुताबिक वहीं तीसरे सप्ताह से सभी स्मारक व संग्रहालय सुबह नौ से दोपहर एक बजे व सायं तीन से पांच बजे तक नियमित रूप से खुलेंगे। उन्होंने कहा कि इस दौरान घरेलु और विदेशी पर्यटकों को निर्धारित प्रवेश शुल्क में 50 प्रतिशत छूट दी जाएगी। इस दौरान कर्मचारियों व पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य होगी व सभी को मास्क भी जरूर पहनना होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।