देश में 60 करोड़ से ज्यादा लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री बोले- पीएम के मुफ्त वैक्सीनेशन अभियान से तेज हुई रफ्तार

corona vaccine
मांडविया ने बताया कि देश को 30 करोड़ से 40 करोड़ तक के आंकड़े पर पहुंचने में 24 दिन लगे तथा फिर छह अगस्त को 50 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 20 दिन और लगे जबकि 60 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 19 दिन और लगे।

नयी दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि देश में दी गईं कोविड-19 रोधी टीके की खुराकों की संख्या बुधवार को 60 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की ‘सबको टीका, मुफ्त टीका’ पहल के तहत, भारत ने 60 करोड़-टीकाकरण का आंकड़ा पार किया। सभी को बधाई!’’ मंत्री ने कहा कि भारत को 10 करोड़ का आंकड़ा छूने में 85 दिन लगे थे और इसके बाद 20 करोड़ का आंकड़ा पार करने में 45 दिन तथा 30 करोड़ तक पहुंचने में 29 दिन और लगे थे।

इसे भी पढ़ें: राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों को टीके की अब तक 57 करोड़ से अधिक खुराकें मिली: केंद्र

मांडविया ने बताया कि देश को 30 करोड़ से 40 करोड़ तक के आंकड़े पर पहुंचने में 24 दिन लगे तथा फिर छह अगस्त को 50 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 20 दिन और लगे जबकि 60 करोड़ के आंकड़े को पार करने में 19 दिन और लगे। देशभर में टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को शुरू किया गया था, जिसमें सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को टीका लगाया गया था और दो फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों (एफएलडब्ल्यू) का टीकाकरण शुरू किया गया था। कोविड-19 टीकाकरण का अगला चरण एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए शुरू हुआ था। देश में एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया गया था। सरकार ने फिर एक मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी पात्र लोगों को टीकाकरण की अनुमति देकर अपने टीकाकरण अभियान का विस्तार करने का निर्णय लिया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़