सांसद आजम खान की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, मीडिया प्रभारी गिरफ्तार

सांसद आजम खान की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, मीडिया प्रभारी गिरफ्तार

समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री रहे आजम खान और उनके परिवार पर इन दिनों काफी केस चल रहे है और वह लगातार कानूनी शिकंजे में है। फिलहाल वे सीतापुर जेल में बंद है।

पिछले 4 माह से विधायक पत्नी और बेटे समेत जेल में बंद समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। यूपी पुलिस ने आजम खान के मीडिया प्रभारी फसाहत अली उर्फ शानू को गिरफ्तार कर लिया है। शानू को कोर्ट में भी पेश किया गया है। शानू पर दो दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज है। फिलहाल पुलिस को आरोपी के पास से कैस, जेवर और यतीमखाना प्रकरण में लूटी गई दो भैंसे भी बरामद हुई है। दरअसल इस मामले में पुलिस ने पिछले साल मुकदमे दर्ज किए थे। सपा शासनकाल में डूंगरपुर में गरीबों के लिए आसरा आवास कॉलोनी बनी थी। इससे पहले इस जमीन पर कुछ लोगों का कब्जा था। जमीन को सरकारी बताते हुए इन्हें वहां से हटा दिया गया। इस दौरान इनके साथ लुटपाट और मारपीट भी की गई थी।

इसे भी पढ़ें: जनता से भी पूछा जाए, उसकी थैली में क्या आया: अखिलेश

इसी को लेकर आजम खान के करीबी लोगों पर मुकदमे दर्ज किए गए थे। पुलिस ने शानू समेत चार और लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद इनके जो बयान आए है उससे सपा सांसद आजम खान की मुश्किलें बढ़ सकती है। दरअसल इन चारों ने अपने बयान में कहा है कि उन्होंने जो कुछ भी किया वह आजम खान के कहने पर ही किया। उन्हीं के कहने पर मकानों को तोड़ा और सामान लूटा था। फिलहाल पुलिस इसकी जांच कर रही है। अब आजम खान का नाम डूंगरपुर के भी 12 और मुकदमों में शामिल हो सकता है। इससे उनकी परेशानी हर हाल में बढ़ेगी। पुलिस द्वारा गिरफ्तार आजम खान के मीडिया प्रभारी फसाहत अली वांटेड था। इसके खिलाफ पुराने 8 केसों की क्रिमिनल हिस्ट्री है और बाकी हिस्ट्री भी फिलहाल निकाली जा रही है।

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव ने कानपुर शेल्टर होम मामले की जांच की मांग की, कहा- लड़कियों का तत्काल इलाज हो

समाजवादी पार्टी के नेता और उत्तर प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री रहे आजम खान और उनके परिवार पर इन दिनों काफी केस चल रहे है और वह लगातार कानूनी शिकंजे में है। फिलहाल वे सीतापुर जेल में बंद है। रामपुर में करीब 76 हेक्टेयर जमीन पर बनी जौहर यूनिवर्सिटी आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक माना जाता है। मार्च में ही इस जमीन को लेकर जांच शुरू हुई और योगी सरकार ने सख्ती बढ़ा दी है। जमीन को लेकर आजम खान पर फर्जीवाड़े का मामला चला और वह जेल में बंद है। आजम खान पर जौहर यूनिवर्सिटी के लिए किसानों की जमीन कब्जा लेना, मकान तुड़वा कर जमीन पर स्कूल बनवाने के आरोप में 40 से ज्यादा मुकदमे लिखे गए है। इसके अलावा आजम खान पर चुनाव के दौरान आचार संहिता उल्लंघन करने तथा आपत्तिजनक भाषण देने के भी 15 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए है। आजम खान समाजवादी पार्टी के विवादित नेताओं में से एक है। अपने विवादास्पद बयानों के लिए अक्सर चर्चा में रहते है। फिलहाल आजम खान की मुश्किलें और भी बढ़ सकती है। उत्तर प्रदेश की सरकार उन्हें किसी भी हालत में बख्शने के मूड में नहीं है। ऐसे में शानू की गिरफ्तारी आजम खान के लिए एक मुश्किल घड़ी पैदा कर सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।