एमपी बोर्ड ने जारी किया 12वीं का परीक्षा परिणाम, पिछले साल की अपेक्षा कम पास हुए विद्यार्थी

एमपी बोर्ड ने जारी किया 12वीं का परीक्षा परिणाम, पिछले साल की अपेक्षा कम पास हुए विद्यार्थी

पिछले साल एमपी बोर्ड के 12वीं का रिजल्ट 72.37% रहा था। इस बार 3.56% कम स्टूडेंट पास हुए। हालांकि, एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है। छात्राएं 73.40% पास हुईं, जबकि 64.66% छात्र सफल रहे।

भोपाल। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सोमवार दोपहर 3 बजे 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया। जारी परीक्षा परिणामों में एक बार फिर सरकारी स्कूलों का परिणाम प्राइवेट स्कूलों की अपेक्षा बेहतर रहा है। इस बार शासकीय स्कूल में 71.43% और प्राइवेट स्कूल में 64.93% छात्र-छात्राएं पास हुए। एमपी बोर्ड की आधिकारिक जानकारी के अनुसार कक्षा 12वीं की परीक्षा में इस बार 8 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल हुए। एमपी बोर्ड ने परीक्षा परिणाम ऑनलाइन जारी किया है। जिसे मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की अधिकृत बेवसाइड पर देखा जा सकता है। इसी के साथ विद्यार्थी 4 सरकारी वेबसाइटों के अलावा मोबाइल ऐप पर भी रिजल्ट देख सकते हैं।  कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन के कारण इस बार कोई कार्यक्रम नहीं हुआ। 

जारी परीक्षा परिणामों में कला वर्ग में रीवा जिले की खुशी सिंह 486 नंबर के साथ टॉपर रहीं। उन्होंने 97.2% अंक पाए। वही विज्ञान-गणित वर्ग से मंदसौर की प्रिया और रिंकू ने 495-495 अंक प्राप्त किए। जबकि कॉमर्स में नीमच के मुफद्दल ने 487 अंक पाकर पहला स्थान बनाया। इस बार 68.81% रेगुलर और 28.70% प्राइवेट स्टूडेंट उत्तीर्ण हुए है। पिछले साल एमपी बोर्ड के 12वीं का रिजल्ट 72.37% रहा था। इस बार 3.56% कम स्टूडेंट पास हुए। हालांकि, एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है। छात्राएं 73.40% पास हुईं, जबकि 64.66% छात्र सफल रहे।

इसे भी पढ़ें: एमपी के छतरपुर में भीषण सड़क हादसा, आठ लोगों की गई जान

वही रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मेधावी विद्यार्थियों के लिए लैपटॉप देने की योजना फिर से शुरू करने की घोषणा की है कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में भर्ती मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को समीक्षा बैठक के बाद इसकी घोषणा की। उन्होनें कहा कि 2019-20 के लिए एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में टॉपर स्टूडेंट्स को योजना का लाभ मिलेगा। लैपटॉप प्राइवेट और नियमित दोनों तरह के छात्रों को दिए जाएंगे।12वीं परीक्षा में टॉप करने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप दिए जाएंगे। उन्हें 25 हजार रुपए और सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे। वही स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने रिजल्ट आने पर बच्चों और उनके अभिभावकों से अपील की है। मंत्री ने कहा कि जिनका रिजल्ट अच्छा है, उनको बधाई और जिनका रिजल्ट उनकी इच्छा के अनुरूप ना आए तो वह चिंता ना करें- सरकार की योजना रुक जाना नहीं के तहत फिर से प्रयास करें। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।