शिवराज सिंह चौहान ने PM मोदी से की मुलाकात, जनजाति गौरव दिवस का दिया निमंत्रण

शिवराज सिंह चौहान ने PM मोदी से की मुलाकात, जनजाति गौरव दिवस का दिया निमंत्रण

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में हर साल 15 नंवबर को जनजाति गौरव दिवस मनाया जाएगा। जिसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निमत्रंण दिया है।

नयी दिल्ली। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुख्यमंत्री चौहान ने इस मुलाकात की तस्वीरें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर साझा की। जिसमें उन्होंने लिखा कि आज माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से दिल्ली में हुई भेंट अत्यंत सफल रही। उनकी ऊर्जा हमें सदैव प्रेरणा देती है और उनके आइडियाज जनकल्याण एवं सुशासन के लिए नये रास्ते दिखाते हैं। उनसे भेंट के दौरान निकले मुद्दों पर मध्यप्रदेश पूरी गंभीरता से कार्य करेगा। 

इसे भी पढ़ें: राहुल के होते हुए हमें कुछ करने की जरूरत नहीं, CM शिवराज बोले- बनी-बनाई पंजाब सरकार को निपटा दिया 

उन्होंने कहा कि हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, जिस स्नेह और आत्मीयता के साथ जनहित संबंधी विषयों का समाधान करते हैं, ऐसे दूरदर्शी नेता युगों में जन्म लेते हैं। प्रधानमंत्री जी का आभारी हूं कि उन्होंने मध्यप्रदेश के मुद्दों पर गंभीरता से विचार कर मुझे यथोचित मार्गदर्शन दिया।

इसे भी पढ़ें: शिवराज कैबिनेट में कई प्रस्तावों को मिली मंजूरी, गृह मंत्री ने दी जानकारी

PM मोदी को 'शिवराज' ने दिया निमंत्रण 

वहीं प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात के बात मुख्यमंत्री चौहान ने मीडियाकर्मियों से बातचीत भी की। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश में हर साल 15 नंवबर को जनजाति गौरव दिवस मनाया जाएगा। जिसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निमत्रंण दिया है और भोपाल के अत्याधुनिक रेलवे स्टेशन के लोकार्पण के लिए भी निमत्रंण दिया है।

उन्होंने बताया कि विभिन्न विषयों पर प्रधानमंत्री का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। मैंने राज्य में कोविड की स्थिति, टीकाकरण की स्थिति, बारिश की स्थिति आदि की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने बेहतरीन गुणवत्ता वाली शिक्षा देने के लिए 350 मुख्यमंत्री राइज स्कूल खोलने की हमारी योजना की सराहना की। 

इसे भी पढ़ें: CM शिवराज ने दिग्विजय सिंह को याद दिलाया पुराना नारा , कहा - जब तक रहेंगे दिग्गी, जलती रहेगी डिब्बी 

चंदन की खेती का मिला सुझाव 

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने मुझे सुझाव दिया कि चंदन को हमें एक्सपोर्ट करना चाहिए। हमें इसके लिए क्रॉप पैटर्न बदलना पड़ेगा जिससे किसानों को लाभ मिले। इस पर मध्यप्रदेश गंभीरता के साथ काम करेगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।