सांसद हनुमान बेनीवाल ने थाना प्रभारी आत्महत्या मामलें की CBI जांच की मांग की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   09:22
सांसद हनुमान बेनीवाल ने थाना प्रभारी आत्महत्या मामलें की CBI जांच की मांग की

बेनीवाल ने सोमवार को कहा कि थाना प्रभारी के आत्महत्या के बाद थाने के पुलिसकर्मियों ने संयुक्त प्रार्थनापत्र में उनका तबादला करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों के तबादले के आग्रह के पीछे स्थानीय विधायक के राजनीतिक दबाव का हाथ है।

जयपुर। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के संयोजक और सांसद हनुमान बेनीवाल ने चूरू जिले के राजगढ़ थाने के प्रभारी के आत्महत्या मामलें की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। बेनीवाल ने कहा कि चूरू के राजगढ़ थाने के प्रभारी विष्णु दत्त विश्नोई द्वारा आत्महत्या करने की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। बेनीवाल ने सोमवार को कहा कि थाना प्रभारी के आत्महत्या के बाद थाने के पुलिसकर्मियों ने संयुक्त प्रार्थनापत्र में उनका तबादला करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों के तबादले के आग्रह के पीछे स्थानीय विधायक के राजनीतिक दबाव का हाथ है। सच्चाई सामने लाने के लिये सीबीआई जांच की आवश्यकता है। बेनीवाल ने कहा कि पार्टी सीबीआई जांच और विश्वनोई को न्याय दिलाने के लिये सोशल मीडिया पर एक मुहिम चलायेगी।

इसे भी पढ़ें: राज्यवर्धन बोले, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में हर मोर्चे पर गहलोत सरकार फेल

उल्लेखनीय है कि शनिवार सुबह थानप्रभारी अपने क्वार्टर में पंखें से झूलते पाये गये थे। चूरू पुलिस अधीक्षक के नाम सुसाइड नोट में उन्होंने चारों और से उनपर बनाए गए दबाव को सहन नहीं कर पाने का उल्लेख किया था। सोशल मीडिया पर वायरल हुई थाना प्रभारी और उनके दोस्त कार्यकर्ता के बीचव्हाट्सएप चैट के स्क्रीन शॉट में उन्होंने कार्यकर्ता दोस्त को बताया था कि उन्हें स्थानीय स्तर की गंदी राजनीति में फंसाया जा रहा है। विधानसभा में प्रतिपक्ष के उपनेता राजेन्द्र राठौड़ सहित भाजपा नेताओं से थाना प्रभारी पर दबाव पैदा करने के लिये कांग्रेस की स्थानीय विधायक कृष्णा पूनियां पर आरोप लगाया था जिसे पूनियां ने नकार दिया था। आत्महत्या मामलें की जांच राज्य पुलिस की सीआईडी-सीबी कर रही है। इस मामलें में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आत्महत्या के लिये उकसाने का मामला दर्ज किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।