मुंबई में MSRTC के 105 बस कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित

MSRTC
महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में यात्रियों की परेशानियां कम करने के लिए महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) की बसों, बस चालकों एवं परिचालकों की सेवाएं ली थीं। अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग से करीब 400 बस चालकों एवं परिचालकों और 100 बसों को मुंबई भेजा गया था।

पुणे। मुंबई में इस माह की शुरुआत में बेस्ट बसों में तैनात किए गए एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग के कम से कम 105 बस चालक एवं परिचालक सांगली लौटने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) ने महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में यात्रियों की परेशानियां कम करने के लिए महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) की बसों, बस चालकों एवं परिचालकों की सेवाएं ली थीं। अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग से करीब 400 बस चालकों एवं परिचालकों और 100 बसों को मुंबई भेजा गया था। एमएसआरटीसी के सांगली प्रभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘इन 400 कर्मियों में से 105 बस चालक एवं परिचालक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी कर्मियों के अक्टूबर में लौटने के बाद उनकी एंटीजन जांच की गई थी।’’ 

इसे भी पढ़ें: मुंबई के सिटी मॉल में लगी आग पर अभी तक नहीं पाया गया काबू, 36 घंटे से जुटे दमकलकर्मी

अधिकारियों ने बताया कि संक्रमित पाए गए कर्मियों को सांगली में विभिन्न कोविड-19 केंद्रों में भेजा गया है। कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए एक बस चालक ने कहा, ‘‘दो दिन तक हमें सड़क पर ही सोना पड़ा, क्योंकि डिपो में विश्राम गृह नहीं थे।’’ उसने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कहा, ‘‘हमारे कुछ चालकों एवं परिचालकों को ठंड लग गई थी और बुखार हो गया था, लेकिन उन्हें घर लौटने की अनुमति नहीं दी गई। हमारे शिकायत करने के बाद गोरेगांव में हमारे ठहरने का प्रबंध किया गया।’’ सांगली के प्रभागीय परिवहन अधीक्षक आलम देसाई ने बताया कि कुछ चालकों एवं परिचालकों को मुंबई में आने के बाद केवल पहले दिन कुछ दिक्कतें हुई थीं, लेकिन दूसरे दिन उनके रहने का प्रबंध कर दिया गया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़